Socha yaad karke thoda tadpau

न मिले किसी का साथ तो हमें याद करना,
तन्हाई महसूस हो तो हमें याद करना,
खुशियाँ बाटने के लियें दोस्त हजारो रखना,
जब ग़म बांटना हो तो हमें याद करना।

कितने अनमोल होते हैं यह मोहब्बत के रिश्ते,
भी कोई याद न भी करे फिर भी इंतज़ार रहता है।

Socha yaad karke thoda tadpau

Socha yaad karke thoda tadpau

सोचा याद न करके थोड़ा तड़पाऊं उनको,
किसी और का नाम लेकर जलाऊं उनको,
पर चोट लगेगी उनको तो दर्द मुझको ही होगा,
अब ये बताओ किस तरह सताऊं उनको।

यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है,
ये वो गुनाह है जो हम बार बार करते हैं,
जलकर हसरत की राह पर चिराग,
हम सुबह और शाम तेरे मिलने का इंतज़ार करते हैं।

भुल ना जाना किसी और के लिए,
हम जी रहे हैं सिर्फ आपके लिए। 💘

गर रब पूछे तेरी हसरत क्या हैं तो कहेंगे
क़रार उसे भी न मिले जो हमें बेक़रार करके गया।

जब याद आती है आपकी तो मुस्कुरा लेते हैं,
कुछ पल के लिए गम भुला लेते हैं,
कैसे भीग सकती हैं आपकी पलकें,
जब आपके हिस्से के आँसू हम बहा लेते हैं।

ख्यालों में बुना करते हैं हम,
तेरे साथ मोहब्बत का ताना बाना,
सुकून सा दे जाता है..
इस वीरान दिल में तेरा आना-जाना।

Related Shayari: