Yaadein Shayari, Barsaat to tham jati hai par yaadein nahi

बरसात तो थम जाती हैं पर यादें नहीं..
रोज-रोज मौसम का बदलना अच्छा नहीं। 🌨

Yaadein Shayari in Hindi

Yaadein Shayari in Hindi

मिलते रहिए, हाल-चाल पूछते रहिए,
ना जाने कब कोई एक याद बन कर रह जाएँ।

साथ भींगे बारिश में ये मुमकिन नहीं,
चलो भींगे यादो में तुम कहीं, मैं कहीं। ❤️️

याद करता है कोई मुझे शिद्दत से,
जाता क्यों नही मेरा ये वहम मुद्दत से। 💔

कुछ बिखरी हुई यादों के क़िस्से भी बहुत थे,
कुछ उस ने भी बालों को खुला छोड़ दिया था।

जब भी कभी बीतें लम्हों की याद आएगी,
होंठ तो सी लेगें हम पर आँख तो भर आएगी।

अब अपनी यादों की खुशबू भी हम से छीन लोगे क्या,
किताब-ए-दिल में अब ये सूखा गुलाब तो रहने दो।

Related Shayari:

Join our Facebook Shayari Group