Tag Archives: Kismat

Kismat Shayari

Ye Lakeerein Ye Naseeb Ye Kismat, Shayari

Ye Lakeerein Ye Naseeb Ye Kismat,
Sab Fareb Ke Aayine Hain,
Haathon Mein Tera Haath Hone Se Hi,
Mukammal Zindagi Ke Mayne Hain. 💕

ये लकीरें ये नसीब ये किस्मत,
सब फ़रेब के आईनें हैं,
हाथों में तेरा हाथ होने से ही,
मुकम्मल ज़िंदगी के मायने हैं। 💕

Badi Madat Se Chaha Hai Tujhe

Badi Madat Se Chaha Hai Tujhe,
Badi Duaaon Se Paya Hai Tujhe,
Tujhe Bhulne Ko Sochu Bhi To Kaise,
Kismat Ki Lakiro se Churaya Hai Tujhe.

बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे,
बड़ी दुआओं से पाया है तुझे,
तुझे भुलाने की सोचूं भी तो कैसे,
किस्मत की लकीरों से चुराया है तुझे।

Mujhe bhi ab neend ki talab nahin rahi, Shayari

Mujhe bhi ab neend ki talab nahin rahi,
Ab raaton ko jagna accha lagta hain,
Mujhe nahi malum wo meri kismat me hai ki nahi,
Magar use khuda se mangna achha lagta hai. 💔 😢

मुझे भी अब नींद की तलब नहीं रही,
अब रातों को जागना अच्छा लगता है,
मुझे नहीं मालूम वो मेरी किस्मत में है या नहीं,
मगर उसे खुदा से माँगना अच्छा लगता है। 💔 😢