Tag Archives: Aashiq

Aashiq Shayari

Hot Shayari, Hum Dilphenk Aashiq

Hum Dilphenk Aashiq Har Kaam Mein Kamaal Kar De,
Jo Vaada Kare Woh Pura Har Haal Mein Kar De,
Kya Zarurat Hai Ladkiyo Ko Lipistic Lagane Ki,
Hum Chum-Chum Ke Hi Honth Laal Kar De.

हम दिलफेक आशिक़ हर काम में कमाल कर दे,
जो वादा करे वो पूरा हर हाल में कर दे,
क्या जरुरत है लड़कियों को लिपस्टिक लगाने की,
हम चूम-चूम के ही होंठ लाल कर दें।

Sad Shayari, Bahut mehngi hui wafa

Bahut mehngi hui ab to wafa,
log kaha milte hai.. jo sachcha pyar kare,
mohabbat to ban gai hai ab saza,
aashiq kaha milte hai, jo sang-sang ishq ka dariya paar kare!

बहुत महँगी हुई अब तो वफा..
लोग कहाँ मिलते हैं, जो सच्चा प्यार करें
मोहब्बत तो बन गई है अब सजा..
आशिक कहाँ मिलते हैं, जो संग-संग इश्क का दरिया पार करें!

Funny Shayari, Hum dil fek aashiq

हम दिलफेक आशिक़ है हर काम में कमाल कर दे,
जो वादा करे वो पूरा हर हाल में कर दे,
क्या जरुरत है जानू को लिपस्टिक लगाने की,
हम चूम-चूम के ही होंठ उसके लाल कर दे !! 👄 😜

Hum dil fek aashiq har kam me kamal kar de.
Jo wada kare use pura har haal me kar de.
Tujhe lipistik lagane ki kya jarurat,
hum hot chum-chum ke lal kar de!! 👄 😜

Udas Shayari, Itni Bechaini Se Tumko

इतनी बेचैनी से तुमको किसकी तलाश है,
वो कौन है जो तेरी आंखों की प्यास है,
जबसे मिला हूं तुमसे यही सोचता हूं मैं,
क्यों मेरे दिल को हो रहा तेरा एहसास है,
जिंदगी के इस मोड़ पे तुम आके यूं मिले,
जैसे कि कोई मंजिल मेरे इतने पास है,
एक नजर की आस में तकता हूं मैं तुझे,
अब देख तेरे खातिर एक आशिक उदास है|

Itni Bechaini Se Tumko Kiski Talaash Hai,
Wo Kaun Hai Jo Teri Aankhon Ki Pyaas Hai,
Jabse Mila Hun Tumse Yahi Sochtaa Hun Main,
Kyon Mere Dil Ko Ho Raha Tera Ehsaas Hai,
Zindgi Ke Is Mod Pe Tum Aake Yun Mile,
Jaise Ki Koi Manzil Mere Itne Paas Hai,
EK Nazar Ki Aas Me Dekhta Hun Main Tujhe,
Ab Dekh Tere Khatir Ek Aashiq Udaas Hai.

Funny Shayari, Kisi shayar ne kaha

Kisi shayar ne kaha..
Zindagi ek lamba safar hai,
Kisi aashiq ne kaha..
Zindagi ek mushkil paheli hai,
Are dosto zindagi ka arth toh sirf voh bata sakta hai,
Jiski shaadi ke baad bhi koi saheli hai!!

Bewafa Shayari, Phool k sath kate bhi

Phool k sath kate bhi naseeb hote hai,
Khushi k sath gham bhi naseeb hota hai,
Yu to majboori le doobti hai har aashiq ko,
Warna khushi se bewafa kaun hota hai.

फ़ुलो के साथ कांटे नसिब होते है,
खुषी के साथ गम भी नसिब होता है,
यु तो मजबुरी ले डुबती हर आशिक को,
वरना खुषी से बेवफ़ा कौन होता है?