Motivational Shayari, Manjil yuhi nahi milti rahi ko

मंजिल यूँ ही नहीं मिलती राही को,
जुनून सा दिल में जगाना पड़ता है,
पूछा चिड़िया से कि घोसला कैसे बनता है,
वो बोली कि तिनका तिनका उठाना पड़ता है। 🐦

Manjil yuhi nahi milti rahi ko,
Junun sa dil mein jagana padta hai,
Puchha chidiya se ki ghosla kaise banta hai,
Wo boli ki tinka tinka uthana padta hai. 🐦

Related Shayari: