Love Shayari, Wafa ki zanjeer

Wafa ki zanjeer se dar lagata hai,
kuchh apni taqadeer se dar lagata hai.
jo mujhe tujhase juda karti hai,
haath ki us lakeer se dar lagata hai!

वफ़ा की ज़ंज़ीर से डर लगता है,
कुछ अपनी तक़दीर से डर लगता है.
जो मुझे तुझसे जुदा करती है,
हाथ की उस लकीर से डर लगता है!

Related Shayari: