Love Shayari, Mohabbat muqaddar hai koi khwab nahi,

मोहब्बत मुक़द्दर है एक ख्वाब नहीं,
ये वो अदा है जिसमे सब कामयाब नहीं,
जिन्हें पनाह मिली उन्हें उँगलियों पर गिन लो,
मगर जो फना हुए उनका कोई हिसाब नहीं! 💘

Mohabbat muqaddar hai koi khwab nahi,
Wo ada hai jisme sab kamyab nahi,
Jinhe ishq ki panah mili wo chand hai,
Jo pagal hue unka koi hisab nahi. 💘

Related Shayari: