Love Shayari, Chup na hogi hawa

Chup na hogi hawa bhi kuch kahegi ghata bhi,
Aur mumkin hai tera jikr kar de khuda bhi,
Phir to patthar hi shaayad jabt se kaam lenge,
Husn ki baat chali to sab tera naam lenge. 💕

चुप ना होगी हवा भी, कुछ कहेगी घटा भी,
और मुमकिन है तेरा, जिक्र कर दे खुद़ा भी,
फिर तो पत्थर ही शायद ज़ब्त से काम लेंगे,
हुस्न की बात चली तो, सब तेरा नाम लेंगे। 💕

Related Shayari: