Ho jau tumse door phir mohabbat kis se karu

Love shayari, ho jau tumse door phir mohabbat kis se karu

Love shayari from heart

हो जाऊ तुमसे दूर फिर मौहब्बत किससे करूं,
तुम हो जाओ नाराज फिर शिकायत किससे करूं,
इस दिल में कुछ भी नहीं तुम्हारी चाहतों के सिवा,
अगर तुम्हें ही भूला दूं तो फिर प्यार किसे करूं! 💕

Related Shayari: