Sab hamse Shikayat karte hain, shayari

सब हमसे शिकायत करते हैं..
क़ि हम पत्थर होते जा रहे हैं,
कोई इन हालातों से भी तो पूछो,
जो बद से बदतर होते जा रहे हैं।

Related Shayari: