Kismat Shayari, Kismat Ne Jaise Chaha

किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम,
बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम,
किसी ने विश्वास तोडा तो किसी ने दिल,
और लोगो को लगा की बदल गए हम.

Kismat Ne Jaise Chaha Waise Dhal Gaye Hum,
Bahut Sambhal Kar Chaley Phir Bhi Phisal Gaye Hum!!
Kisi Ne Yakeen Thoda To Kabhi Kisi Ne Dil,
Aur Logon Ko Lagata Ki Badal Gaye Hum!!

Related Shayari: