Ham na ajnabi hai na paraye hain, shayari

love shayari hum na ajnabi hai na paraye

हम ना अजनबी हैं ना पराये हैं,
आप और हम एक रिश्ते के साये है,
जब जी चाहे महसूस कर लीजियेगा,
हम तो आपकी मुस्कुराहटों में समाये है। ❣

Hum Na Ajnabi Hain Na Paraye Hain,
Aap Aur Hum Ek Rishte Ke Saye Hain,
Jab Bhi Jee Chahe Mehsoos Kar Lijiyega,
Hum To Aapki Muskurahat Mai Samaye Hain.

Related Shayari: