Dard Shayari, Dard ki anubhuti ka bhugol koi kya likhega

दर्द की अनुभूति का भूगोल कोई क्या लिखेगा,
बाँसुरी की वेदना के बोल कोई क्या लिखेगा,
रास लीला कृष्ण की लिखना बहुत आसान लेकिन,
गोपियों के आँसुओं के मोल कोई क्या लिखेगा।

Related Shayari: