Beauty Shayari, Palkon ko jab-jab

Palkon ko jab-jab aapne jhukaya hai,
Bas ek hi khayal dil mein aaya hai.
Ki jis khuda ne tumhein banaya hai,
Tumhein dharti par bhejkar woh kaise jee paya hai.

पलकों को जब-जब आपने झुकाया है,
बस एक ही ख्याल दिल में आया है,
कि जिस खुदा ने तुम्हें बनाया है,
तुम्हें धरती पर भेजकर वो कैसे जी पाया है।

Related Shayari: