Nazar ne nazar se mulakat kar li, shayari

sad shayari

नजर ने नजर से मुलाकात कर ली,
रहे दोनो एक दम खामोश पर फिर भी 💑 बात कर ली,
कुछ समय बाद मोहब्बत की फ़िज़ा को तब जाना,
जब खुद को 😔 अकेला पाया,
और तब मेरी इन आँखों ने 😢 रो रो के 🌧 बरसात कर ली..

2 Line Shayari #210, Do mulakat kya hui

​दो मुलाक़ात क्या हुई हमारी तुम्हारी,
​निगरानी मे सारा शहर लग गया।

क़ैद ख़ानें हैं बिन सलाख़ों के,
कुछ यूँ चर्चें हैं तुम्हारी आँखों के।

फर्क नहीं पडता दुश्मन कि संख्या कितनी है,
जीत तो अपने बुलंद हौसलों से होती है

फर्क नहीं पडता दुश्मन कि संख्या कितनी है,
जीत तो अपने बुलंद हौसलों से होती है।

​तेरी यादों की खुशबू से, हम महकते रहतें हैं
​जब जब तुझको सोचते हैं, बहकते रहतें हैं। 💞🍃

​तेरी यादों की खुशबू से, हम महकते रहतें हैं!
​जब जब तुझको सोचते हैं, बहकते रहतें हैं। 🍃💞

बहुत ऊंचा कलाकार हूँ जिंदगी के रंगमंच का..
साहब.. मजाल है देखने वालों को मेरा दर्द दिख जाए।

रूठने का क्या फ़ायदा सुलह कर लो
खामियां उसमें भी हैं खामियां तुममे भी बहोत हैं।

बारात निकली हैं आज जज़्बातों की मेरे
देखते हैं, पैगाम-ए-दिल दिलदार तक कब पहुँचता हैं।

इसी शहर में कई साल से मेरे कुछ क़रीबी अज़ीज़ हैं,
उन्हें मेरी कोई ख़बर नहीं मुझे उन का कोई पता नहीं।

Love Shayari, Tumse Mulakat ho

Tumse Mulakat ho, Phir se koi baat ho..
Waqt ki kuch na chale, Na Din dhale, na raat ho..
Zikr gum ka chod kar, Teri-meri baat ho..
Zindagi ko maud dein, Ek nayi shuruaat ho..
Dil ki jab dhadkan thamey, Dil pe tera haath ho.

Hindi Shayari, Har Mulakat par Waqt

Har mulakat par waqt ka takaza hua,
Jab jab use dekha dil ka dard taza hua,
Suni thi sirf ghazal mein judai ki bate,
Ab khud par biti to haqiqat ka andza hua.

हर मुलाकात पर वक्त का तकाज़ा हुआ..
हर याद पे दिल का दर्द ताजा हुआ..
सुनी थी सिर्फ हमने गज़लों मे जुदाई की बातें..
अब खुद पे बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ..!!

Aaina Dekhoge To Meri Yaad Aayegi, Shayari

आईना देखोगे तो मेरी याद आएगी,
साथ गुज़री वो मुलाकात याद आएगी,
पल भर क लिए वक़्त ठहर जाएगा,
जब आपको मेरी कोई बात याद आएगी. 💑

Aaina Dekhoge To Meri Yaad Aayegi,
Sath Gujari Wo Mulakat Yaad Aayegi,
PaL Bhar Ke Liye WQt Thahar Jayga,
Jab Apko Meri Koi Bat Yaad Aayegi! 💑

Tasavur me sirf tumase hi bate karte hai, Shayari

तसव्वुर (कल्पना) मे सिर्फ तुमसे ही बाते करते है,
तेरी यादो से रोशन राते करते है,
हमारी दिवानगी की इन्तहा तो देखिये,
हम बिन तेरे ही तुझसे मुलाकाते करते है!

Tasavur me sirf tumase hi bate karte hai,
teri yaado se roshan raate karate hai,
hamaari divanagi kee intaha to dekhiye,
ham bin tere hi tujhase mulakate karte hai!