Yaad Shayari, Intazaar to hum bhi kiya karte hain

Intazaar to hum bhi kiya karte hain,
Aapse milne ki aas kiya karte hain,
Mere yaad hichaqiyo ki mohataaz nahi,
Hum to aapko sanso se yaad karate hain.

इंतज़ार तो हम भी किया करते हैं,
आपसे मिलने की आस किया करते हैं,
मेरी याद हिचक़ियो की मोहताज़ नही,
हम तो आपको सांसो से याद करते हैं।

Yaad Shayari, Intazaar to hum bhi kiya karte hain