2 Line Shayari Collection #172

हमें भी आते है अंदाज़ दिल तोड़ने के,
हर दिल में ख़ुदा बसता है यही सोचकर चुप हूँ।


मंजिल का नाराज होना भी जायज था,
हम भी तो अजनबी राहों से दिल लगा बैठे थे।


रात भर तारीफ करता रहा तेरी चाँद से,
चाँद इतना जला कि सुबह तक सूरज हो गया।


तुम और तुम्हारी हर बात मेरे लिए ख़ास हैं,
यहीं शायद मोहब्बत का पहला अहसास हैं।


मिट जाते है वो औरों को मिटाने वाले,
लाश कहा रोती है रोते हैं जलाने वाले।


दिल टूटा है सम्भलने में कुछ वक्त तो लगेगा साहिब,
हर चीज़ इश्क़ तो नहीं कि एक पल में हो जाये।


दिल टूटा है सम्भलने में कुछ वक्त तो लगेगा साहिब,
हर चीज़ इश्क़ तो नहीं कि एक पल में हो जाये।


हर रिश्ते मे सिर्फ नूर बरसेगा..
शर्त बस इतनी है कि रिश्ते में शरारतें करो साजिशें नहीं।


मैं ना जानू इबादत, मुझे माफ़ कर देना ऐ मेरे खुदा,
मैं तो तेरे दर पे आता हूँ, उसकी गली से गुजरने के लिए।


ख्वाब, ख्याल, मोहब्बत, हक़ीक़त, गम और तन्हाई,
ज़रा सी उम्र मेरी.. किस-किस के साथ गुज़र गयी। 🍁