2 Line Shayari #203, Main koi choti si kahani nahi

मैं कोई छोटी सी कहानी नहीं थी,
पर तुम ने पन्ने ही जल्दी पलट दिए। 😔

कितने कमाल की होती है ना दोस्ती,
वजन होता है लेकिन बोझ नही होती। 💕

उम्र बीतती रही जिंदगी के महखानों में,
ना साकी ने पहचाना ना सनम ने।

कितने क़सीदे गढ़े थे तारीफ़ में तेरी,
कमबख्त इस बारिश में सब धूल गए।

ज़रूरी नहीं कि जीने का कोई सहारा हो,
ज़रूरी नहीं कि जिसके हम हों वो भी हमारा हो।

मेरे बस मे नहीं अब हाल-ए-दिल बयां करना,
बस ये समझ लो लफ़्ज़ कम मोहब्बत ज्यादा हैं।

काश क़ैद करलें वो पागली अपनी दिल की डायरी में,
जिसका नाम छुपा रहता है मेरी हर शायरी में।

मिल जाए उलझनो से फुरसत तो जरा सोचना,
क्या सिर्फ फुरसतों मे याद करने तक का रिश्ता है हमसे। 💕

महक रही है ज़िंदगी आज भी,
जिसकी खुशबू से वो कौन है जो बसा है मेरी यादों मे। 💕

काश, बनाने वाले ने थोड़ी-सी होशियारी और दिखाई होती,
इंसान थोड़े कम और.. इंसानियत ज्यादा बनाई होती। 🌹

2 Line Shayari #202, Dhadkane kabu me nahi

धड़कने काबू में नहीं हैं आज,
लगता है कोई बेहताशा याद कर रहा है। 💫

भूल जाना तुम मुझे, पर ये याद रखना,
तेरी रूह रोयेगी, जब कोई मेरा नाम लेगा।

महक गुलाब की आएगी तुम्हारे हाँथों से..
किसी के रास्ते से कांटा हटाकर तो देखो।

अपनी नज़रों को सम्भाल ए-इब्ने-आदम,
हर ज़रूरतमंद औरत बदचलन नहीं होती।

ना जाने किस बात पे आप नाराज है हमसे,
ख्वाबों मे भी मिलते है तो बात नही करते। 😔

वो एक तेरा वादा कि हम कभी जुदा ना होंगे,
वो किस्सा हम अपने दिल को सुनाकर अक्सर मुस्कुराते हैं। 💖

दिल मे ना जाने कैसे तेरे लिए इतनी जगह बन गई,
तेरे मन की हर छोटी सी चाह मेरे जीने की वजह बन गई। 💕

निभाएँ किस तरह रिश्ते, समझ में कुछ नहीं आता,
किसी से दिल नहीं मिलता, कोई दिल से नहीं मिलता।

कह दो हर वो बात जो जरुरी है कहना,
क्योंकि, कभी-कभी जिन्दगी भी बेवक्त पूरी हो जाती है।

हम तो उसकी हर ख्वाहिश पुरी करने का वादा कर बैठे,
हमे क्या पता की हमें छोड़ना भी उसकी ख्वाहिश थी। 😔

2 Line Shayari #201, Main Sagar agar tu nadi

है सागर अगर तू नदी मैं ना बनूँ,
बनूँ वो कश्ती कि डूबूँ तो तुझमें ही रहूँ। 💕

देखा तुझे, चाहा तुझे सोंचा तुझे, पूजा तुझे,
मांगा खुदा से तेरे सिवा, हमने कुछ भी नही। 💕

बचपन साथ रखियेगा जिंदगी की शाम में,
उम्र महसूस ही न होगी सफ़र के मुकाम में। 😊✌

क्यूं एक आस अब तक तुझसे बंधी है,
क्यूं इंतजार हैं अब तक तेरा लोट आने का। 🍁

क्या हसीन इत्तेफाक़ था तेरी गली में आने का,
किसी काम से आये थे, किसी काम के ना रह।

तबाह कर डाला तेरी आँखों की मस्ती ने,
हजार साल जी लेते अगर दीदार ना किया होता तो। 💘

उफ़ ये गजब की रात और ये ठंडी हवा का आलम,
हम भी खूब सोते अगर उनकी बांहो में होते। 😊

ये और बात है की जख्मों से दिल्लगी है मुझे..
मगर जो वार तुमने किये है उसकी दाद दूँगी मैं। ❤

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका इश्क मुकम्मल होता है,
हमने तो यहाँ अपने आप को बस बर्बाद होते देखा है। 💔

हम अपनी किस्मत को भी बदल कर दिखाते..
काश कोई हमें भी दुनिया में सफ़ाई से झूठ बोलना सिखा दे।

2 Line Shayari #200, Mein hawao ki taraf

मैं हवाओं की तरफ़ पीठ किए बैठा हूँ,
कम से कम रेत से आँखें तो बचेंगी।

तू इस कदर मुझे अपने करीब लगता है,
तुझे अलग से जो सोचूँ, तो अजीब लगता है।

मुझे फ़ुरसत ही कहाँ मौसम सुहाना देखूं,
मैं तेरी याद से निकलूं तो ज़माना देखूं।

आँखों में पानी रखों, होंठो पे चिंगारी रखो,
जिंदा रहना है तो तरकीबे बहुत सारी रखो।

उलझते सुलझते हुए जिंदगी के हर पल और,
खुश्बू बिखेरता हुआ तेरा खुश्बुदार सा ख्याल।

हर राह पर तुम्हें तलाश करती रही निगाहें,
काश यादों से निकल कर तुम रूबरू हो जाते।

बढती उम्र में इश्क हो तो अचरज नहीं साहिब,
ये जिंदगी फिर से मुस्कुराने की जिद में है।

हमारी खामोशी को हमारी हार मत समझना,
हम कुछ फैसले ऊपर वाले पर छोड़ देते हैं।

मैं मौत माँगता हूँ खुदा से, तो क्या गलत करता हूँ,
कत्ल तो मेरा हर रोज मेरे, अपने ही कर जाते हैं।

साफ़ मुकर जाने का क़ातिल ने क्या ख़ूब ढंग निकाला है,
हर एक से पूछता है, अरे इसको किसने मार डाला है।

2 Line Shayari #199, Khwahish nahi mujhe

ख्वाहिश नहीं मुझे मशहूर होने की,
आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है। 🙏

कलम के कीड़े हैं हम जब भी मचलते हैं,
खुरदुरे कागज पे रेशमी ख्वाब बुनते हैं। 📝

कमाल की ख़लिश है मेरे दिल की,
कि चेहरे पे एक निशाँ तक नहीँ मिलता।

तेरा हुस्न भी सर्जिकल स्ट्राइक से कम नही,
बिन बताये हजारों क़त्ल हर रोज कर जाती हो। ❤️

बहुत सुकून है, सुन ऐ-रात तेरी बाँहों में,
सारा दिन चलता हूँ तूझ तक आने के लिए। ❤️

मंज़िले हमारे करीब से गुज़रती गयी जनाब,
और हम औरो को रास्ता दिखाने में ही रह गये।

अजीब सी पहेलियाँ हैं मेरे हाथों की लकीरों में,
लिखा तो है सफ़र मगर मंज़िल का निशान नहीं।

तेरी रूह से मेरे दिल का, बड़ा गहरा हे रिश्ता,
यही वजेह हे, मेरे दिल मेँ तेरा हर वक्त धड़कना। ❤️

कैद कर लो हमें अपने हक के दायरे में,
यूं आजाद होकर रहना अब अच्छा नहीं लगता हमें।

ऐ आईने मुझे भी दे-दे जरा सा इल्म चेहरे बदलने का,
आ जाए मुझमें भी हुनर जमाने के साथ चलने का..!!

2 Line Shayari #198, Mein Waqt ban jaau

मैं वक़्त बन जाऊं तू बन जाना कोई लम्हा,
मैं तुझमें गुजर जाऊं तू मुझमें गुजर जाना।

ठुकरा दो अगर दे कोई जिल्लत से समंदर,
इज्जत से जो मिल जाए वो कतरा ही बहुत है।

सुना था वख्त बदलता रहता है,
और अब वख्त ने बताया की लोग भी बदलते है।

तुम्हारी आँखों में बसा है आशियाना मेरा,
अगर ज़िन्दा रखना चाहो तो कभी आँसू मत लाना।

शायरी करने के लिए कुछ खास नहीं चाहिए..
एक यार चाहिए वो भी दगाबाज चाहिए..!!🌹

में नादाँ था वफ़ा तलाश करता रहा ग़ालिब,
भूल गया कि सास भी एक दिन बेवफा हो जाएंगी।

मेरे शायरी की छांव में आकर बैठ जाते है,
वो लोग जो मोहब्बत की धूप में जले होते है।

चेहरे अजनबी हो जाये तो कोई बात नही,
लेकिन रवैये अजनबी हो जाये तो बडी तकलीफ देते हैं।

हम तो जोङना जानते हैं.. तोङना तो सिखा ही नहीं,
खुद टूट जाते हैं अक्सर.. किसी को छोङना सिखा ही नहीं।

जुल्फों को हटा दे चेहरे से थोडासा उजाला होने दो,
सूरज को जरा शरमिंदा कर, वो रात सा काला होने दो। 🌺

2 Line Shayari #197, Shikwe ankhon se

शिकवें आँखों से आँसू बन के गिर पड़े,
वरना होठों से शिकायत कब की मैंने। 💔

माना की बड़ा ही खुबसूरत हुस्न है तेरा,
लेकिन दिल भी होता तो क्या बात होती। 💔

यूँ कफ़न उठाते हो रुख से बार बार,
क्या करोगी मेरा जला हुआ दिल लेकर। 💔

वो एक रात जला तो उसे चिराग कह दिया,
हम बरसो से जल रहे है, कोई तो खिताब दो। 😔

क्यूं बोझ हो जाते है वो झुके हुए कंधे साहब,
जिन पर चढ़कर तुम कभी मेला देखा करते थे।

हिसाब किताब हमसे ना पूछ अब, ऐ ज़िन्दगी..
तूने सितम नहीं गिने, तो हमने भी ज़ख्म नहीं गिने। 🍁

हासिल कर के तो हर कोई मोहब्बत कर सकता है,
बिना हासिल किए किसी को चाहना.. कोई हम से पूछे।

हमारे शहर मै फूलो कि कोई दूकान नही,
बस एक आपके मुस्कुराने से काम चलता है। 🌹

शीशा और पत्थर संग संग रहें तो बात नहीं घबराने की,
शर्त इतनी है कि दोनों ज़िद न करें टकराने की।

एक चाहत होती है, जनाब़.. अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि.. ऊपर अकेले ही जाना है।

2 Line Shayari #196, Mein nahi hu bewafa

मै नहीं हूँ बेवफ़ा मेरा ऐतवार कर ले,
दे दे मुझे मौत या फिर प्यार कर ले।

तेरी मोहब्बत मे एक बात सीखी है,
तेरे साथ के बिना ये सारी दुनिया फीकी है। 💜

कुछ इस कदर तुमसे मेरी निग़ाह मिल गई,
भटके राही को जैसे जन्नत की राह मिल गई।🌹

जो कुछ भी हूं, पर यार, गुनहगार नहीं हूं,
दहलीज हूं, दरवाजा हूं, पर मैं दीवार नहीं हूं। 🙏 🙂

सो जाऊ या तेरी याद में खो जाऊ,
ये फैसला भी नहीं होता और सुबह हो जाती है। 🌹

लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी को खुदा नहीं मिलता,
शायद उन लोगों को दोस्त कोई तुम-सा नहीं मिलता।

तुम्हें किसी और की तकदीर में कैसे जाने दूं,
मेरा वश चले तो, तुम्हें किसी के सपनों में भी ना आने दूं। ❣

​दर्द की वजह बहुत बड़ी नहीं बस इतनी सी है,
​बेहद करीब था एक शख्स जो अब कहीं नजर नहीं आता। 🎭

याद आयेगी हर रोज, मगर तुझे आवाज न दूंगा,
लिखूंगा तेरे ही लिये हर लब्ज़ मगर तेरा नाम न लूंगा। 💕 💔

मुझे तो आज पता चला की मैं किस कदर तन्हा हूँ,
पीछे जब भी मुड़ कर देखूं तो मेरा साया भी मुँह फेर लेता है।

2 Line Shayari #195, Tash ke patte

ताश के पत्ते खुशनसीब है यारों,
बिखरने के बाद उठाने वाला तो कोई है। 🎋

उलझते सुलझते हुए जिंदगी के हर पल और,
खुश्बू बिखेरता हुआ तेरा खुश्बुदार सा ख्याल। 💝

कौन कहता है आग से आग बुझती नहीं,
हुज़ूर दिल से ज़रा दिल लगा कर तो देखो। 💞

मेरा कत्ल करने की उसकी साजीश तो देखो,
करीब से गुज़री तो चेहरे से पर्दा हटा लिया।

मुझे परखने में तूने पूरी जिंदगी लगा दी,
काश! कुछ वक्त समझने में लगाया होता।

अच्छा हुआ कि तुमने हमें तोड़ कर रख दिया,
घमण्ड भी हमें बहुत था तेरे होने का। 😢

जैसे जलानी थी हमने जला दी जिंदगी..
अब धुँए पर तमाशा कैसा और राख पर बहस कैसी।

डालना अपने हाथों से कफन मेरी लाश पर,
की तेरे दिए जखमों के तोहफे कोई और ना देख ले। 🌹

मुड़े-मुड़े से हैं किताब-ऐ-इश्क़ के पन्ने,
ऐ-सनम ये कौन है जो हमें हमारे बाद पढ़ता है।

ये कैसा तुम्हारा ख्याल है जो मेरा हाल बदल देता है,
तूम दिसम्बर की तरह हो जो पूरा साल बदल देता है।

2 Line Shayari #194, Khareed pau khushiyan

खरीद पाऊँ खुशियाँ उदास चेहरों के लिए,
मेरे किरदार का मोल इतना करदे खुदा। 🙏🏻

तड़प रहे है हम तुम्हारे एक अल्फाज के लिए,
तोड़ दो ख़ामोशी मुझे ज़िंदा रखने के लिए।

उसके लिये तो मैंने यहां तक दुआएं कि है..
उसे कोई चाहे भी तो.. बस मेरी तरह चाहे।

कोई समझे तो एक बात कहूँ साहब,
तनहाई सौ गुना बेहतर है मतलबी लोगों से। ❣

तुम्हारी और मेरी रात में बस फर्क इतना है,
तुम्हारी सो के गुजरी है, हमारी रो के गुजरी है। 😰

महफूज़ रख, बेदाग रख, मैली ना कर जिंदगी,
मिलती नहीं इंसान को किरदार की चादर नई।

शुकर किये जा तू मालिक का शुकराना ही भक्ति है,
शिकवे गिले को लब पर अपने न लाना ही भक्ति है।

बहुत गुस्ताख है तेरी यादे इन्हे तमीज सिखा दो,
कमबख्त दस्तक भी नही देती और दिल में उतर जाती है।

लगता है आँखों से अश्क़ों की तरह बरसते रहेंगे हम,
ताउम्र प्यार के लिए इसी तरह तरसते रहेंगे हम। 💕

ख़त्म हुआ अब महबूब की गलियों मे घूमने का दस्तूर,
अब जब भी उनकी याद आती है, DP खोल के देख लेते हैं। 💔

2 Line Shayari #193, Ajib Tamasha Hai

अजीब तमाशा है मिट्टी से बने लोगो का,
बेवफाई करो तो रोते है और वफा करो तो रुलाते है।

अकेला वारिस हूँ उसकी तमाम नफरतों का,
जिसके सारे शहर में आशिक हजार है। ✍

मोहब्बत तेरी सूरत से नही तेरे किरदार से है,
शौक-ऐ-हूस्न होता तो बाजार चले जाते।

तेरी आंखों से एक चीज़ लाजवाब पीता हूँ,
मैं हूँ तो बहोत गरीब पर सबसे महँगी शराब पीता हूँ।

मुश्किल होता है जवाब देना.. जब कोई
खामोश रह कर भी.. सवाल कर लेता है।

बेचैनियाँ बाजारों में नहीं मिला करती.. मेरे दोस्त
इन्हें बाँटने वाला, कोई बहुत नजदीक का होता हैं।

मुझे आजमाने वाले शख्स तेरा शुक्रिया,
मेरी काबिलियत निखरी है तेरी हर आजमाइश के बाद।

गुलाबों ने ख्वाबों की हक़ीक़त सिखाई है मोहब्बत
भले ही न मिली हो मगर प्रीत हमने दिल से निभाई है। 💕

प्यार हमेशा उससे करना जो आँखो के..
साथ साथ दिल की धड़कनो को भी पढ़ सखे। 💕

इतनी हिम्मत तो नहीं किसी को हाल-ये-दिल सुना सके,
बस जिसके लिये उदास है बो महसूस करे तो काफी है। 🌹

2 Line Shayari #192, Ek Mashwara chahiye tha

एक मशवरा चाहिए था साहेब,
दिल तोड़ा है एक बेवफा ने, जान दे दूं या जाने दूं।

तेरी चाहत में रुसवा यूं सरे बाज़ार हो गये,
हमने ही दिल खोया और हम ही गुनाहगार हो गये।

सीख नहीं पा रहा हूँ मीठे झूठ बोलने का हुनर,
कड़वे सच ने हमसे न जाने कितने लोग छीन लिए।

लोगों की नज़रों में फर्क अब भी नहीं है,
पहले मुड़ कर देखते थे अब देख कर मुड़ जाते हैं।

मसला ये नहीं है के दर्द कितना है,
ग़ालिब, मुद्दा ये है कि परवाह किस किस को है

एक गफ़लत सी बनी रहने दो, हर रिश्ते में..
किसी को इतना न जानो कि जुद़ा हो जाये।

क्या बेचकर हम ख़रीदें फ़ुर्सत-ऐ-जिंदगी,
सब कुछ तो गिरवी पड़ा है ज़िम्मेदारी के बाज़ार में।

पूछने से पहले ही.. सुलझ जाती हैं सवालों की,
गुत्थियां.. कुछ आँखें इतनी हाजिर जवाब होती हैं।

जिसने कतरे भर का भी किया है एहसान हम पर,
वक्त ने मौका दिया तो दरिया लौटाएँगे हम उन्हें। 😘

तेरी यादों की नौकरी में, गज़ल की पगार मिलती है,
खर्च हो जाते हैं झूठे वादे, व़फा कहाँ उधार मिलती है।

2 Line Shayari #191, Koi sikha de hame bhi

कोई सिखा दे हमें भी वादों से मुकर जाना,
बहुत थक गये हैं.. निभाते निभाते। 💕 🍁 💞

सो जाऊ या तेरी याद में खो जाऊ,
ये फैसला भी नहीं होता और सुबह हो जाती है। 🌹

मुझे क्या करना है तेरे इश्क की कीमत जानकर,
तेरे भरोसे पे बिकना मंजूर है मुझे।🌹

तहजीब की मिसाल गरीबो के घर पे है,
दुपट्टा फटा हुआ है लेकिन सर पे है।

इजहार गर जुबां से हो तो.. मजा क्या है ,
चाहने वाला जो निगाहों को पढ़े.. तो बुरा क्या है। 💕

वो कर दिया तूने जो ना कर पाए हकीम भी,
के तेरे छूने से अब मीठा हो गया है नीम भी।

हिसाब किताब हमसे ना पूछ अब, ऐ ज़िन्दगी..
तूने सितम नहीं गिने, तो हमने भी ज़ख्म नहीं गिने। 🍁

हासिल कर के तो हर कोई मोहब्बत कर सकता है,
बिना हासिल किए किसी को चाहना.. कोई हम से पूछे।

मेरी हर तलाश तुम पर ही खत्म होगी,
मैंने अपनी आरज़ूओं को बस इतने ही पंख लगाये हैं। 💞

मेरी बाहें जब तरसती हैं तुम्हे अपने सीने से लगाने को,
मैं कागज़ पे उतार के तुम्हें, अक्सर अपने गले लगाता हूँ।💐

2 Line Shayari #190, Kar gaya hai etna khali wo

कर गया है इतना खाली वो शख्श मुझे,
मेरा.. मुझसे ही मुझमे सामना नही होता।

मत पूछो के मेरा कारोबार क्या है दोस्तो..
मुस्कुराहटों की छोटी सी दुकान है, नफरतों के बाज़ार में।

तुमसे ही माँगी हैं.. दुआएं तुम्हारे लिए,
हर लम्हा सज़दे में मैने तुम्हें रब की तरह देखा है। 💖

हम अपनी रुह तेरे ज़िस्म मे ही छोड़ आये,
तुझसे गले लगाना तो बस एक बहाना था। 🌹

कौन कहता है के दूरियो से मिट जाती है मोहब्बत,
मिलने वाले से तो ख्यालों मे भी मिल आया करते हैं।

क्या पता क्या खूबी है उनमे और क्या कमी है हम में,
वो हमे अपना नही सकते और हम उन्हे भुला नही सकते।

खाली पलके झुका देने से नींद नही आती है जनाब,
सोते वो लोग है जिनके पास किसी की यादें नहीं होती। 💗

ज़माने में आये हो तो जीने का हुनर भी रखना,
दुश्मनों से कोई खतरा नहीं बस अपनो पे नजर रखना।

तेरी मौजूदगी महसूस वो करे जो जुदा हो तुझसे,
मैंने तो अपने आप में तुझे बसाया है एक एहसास की तरह। 💖

मेरे ख्वाबों का भी शौक तेरी याँदों में भी मजा.. उफफफ
समझ नहीं आता सोकर तेरा दिदार करू या जाग कर तुझें याद करू।

2 Line Shayari #189, Tu ishq ki dusari nishani de

तू इश्क की दूसरी निशानी दे दे मुझको,
आंसू तो रोज गिर कर सूख जाते है।

तहजीब की मिसाल गरीबो के घर पे है,
दुपट्टा फटा हुआ है लेकिन सर पे है।

मुझे परखने में तूने पूरी जिंदगी लगा दी,
काश कुछ वक्त समझने में लगाया होता।

रहनुमाओं ने ही भटकाये है जिंदगी के रास्ते,
रूह उतरी थी ज़मीं पे मँजिल का पता लेकर।

न रख इतना गुरूर अपने नशे में ए शराब,
तुझसे ज़्यादा नशा रखती है आंखे मेरे महबूब की।

ये कैसा तुम्हारा ख्याल है जो मेरा हाल बदल देता है,
तूम दिसम्बर की तरह हो जो पूरा साल बदल देता है।

क्यूं बोझ हो जाते है वो झुके हुए कंधे साहब,
जिन पर चढ़कर तुम कभी मेला देखा करते थे।

हिसाब किताब हमसे ना पूछ अब, ऐ ज़िन्दगी,
तूने सितम नहीं गिने, तो हमने भी ज़ख्म नहीं गिने। 🍁

हासिल कर के तो हर कोई मोहब्बत कर सकता है,
बिना हासिल किए किसी को चाहना.. कोई हम से पूछे।

गलत सुना था की इश्क आँखों से होता है,
दिल तो वो भी ले जाते है जो पलकें तक नहीं उठाते। 🌹

These were the best 2 Line Shayari which we have collected from various sources. All Lovers will love this whole article and can select any 2 Line Shayari for Lovers. You can also send these beautiful 2 Line Shayari to your GF/FB. We have already shared lots of 2 Line Shayari Status and all for lovers, we hope you like them too. Previously we shared some Love Shayari in Hindi. This time we had decided to share Hindi 2 Line Shayari on some readers demand and this article have completed their wish. You may also like our 2 Line Hindi Shayari collection.