Sad Shayari, Hath pakad kar

Hath pakad kar rok lete agar,
Tujh par jara bhi zor hota mera,
Na rote hum yu tere liye..
Agar hamari zindagi me tere siwa koi aur hota!

हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,
तुझ पर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,
ना रोते हम यूँ तेरे लिये..
अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता..