Sad Shayari, Dukh dekar sawal karte ho

दुःख देकर सवाल करते हो,
तुम भी जानम कमाल करते हो,
देख कर पूछ लिया हाल मेरा,
चलो कुछ तो ख्याल करते हो,
शहर-ए दिल में ये उदासियाँ कैसी,
ये भी मुझसे सवाल करते हो,
मरना चाहें तो मर नहीं सकते,
तुम भी जीना मुहाल करते हो,
अब किस-किस की मिसाल दूँ तुम को,
हर सितम बे-मिसाल करते हो।

-मिरजा गालि़ब साहब

Sad Shayari, Dukh dekar sawal karte ho