Sad Shayari, Chhot gaya jo sath

Chhot gaya jo sath tera mujh se,
Rooth gaya hai apna hi dil mujha se,
Kitani taklif kitna dard hai tere jaane ka,
Ek baar mudh ke dekh kya haal ho gaya hai tere deewane ka.

छूट गया जो साथ तेरा मुझसे,
रूठ गया है अपना ही दिल मुझसे,
कितनी तकलीफ कितना दर्द है तेरे जाने का,
एक बार मुड़ के देख क्या हल हो गया है तेरे दीवाने।