Love Shayari, Wafa ki zanjeer

Wafa ki zanjeer se dar lagata hai,
kuchh apni taqadeer se dar lagata hai.
jo mujhe tujhase juda karti hai,
haath ki us lakeer se dar lagata hai!

वफ़ा की ज़ंज़ीर से डर लगता है,
कुछ अपनी तक़दीर से डर लगता है.
जो मुझे तुझसे जुदा करती है,
हाथ की उस लकीर से डर लगता है!

Sad Shayari, Kaash unhen chahane

Kaash unhen chahane ka aramaan na hota,
main hosh mein hote hue anajaan na hota,
ye pyaar na hota, patthar dil se hamen,
ya vo patthar dil inasaan na hota!

काश उन्हें चाहने का अरमान नही होता,
में होश में होकर भी अंजान नही होता,
ये प्यार ना होता, किसी पत्थर दिल से,
या फिर कोई पत्थर दिल इंसान ना होता!

Sad Shayari, Bahut mehngi hui wafa

Bahut mehngi hui ab to wafa,
log kaha milte hai.. jo sachcha pyar kare,
mohabbat to ban gai hai ab saza,
aashiq kaha milte hai, jo sang-sang ishq ka dariya paar kare!

बहुत महँगी हुई अब तो वफा..
लोग कहाँ मिलते हैं, जो सच्चा प्यार करें
मोहब्बत तो बन गई है अब सजा..
आशिक कहाँ मिलते हैं, जो संग-संग इश्क का दरिया पार करें!

Yaad Shayari, Kitni jaldi zindagi

Kitni jaldi zindagi guzar jaati hai,
Pyaas buztee nahin barsaat chali jaati hai,
Aap ki yaadein kuchh iss tarah aati hai,
Neend aati nahin aur raat guzar jaati hai!

कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है,
प्यास भुझ्ती नहीं बरसात चली जाती है,
तेरी याद कुछ इस तरह आती है,
नींद आती नहीं मगर रात गुज़र जाती है।

Love Shayari, kab tak wo mera

Kab tak wo mera hone ka intezaar karega,
kudh toot kar wo ek din mujhse puar karega,
ishq ki aag me usko itna jala denge,
ki ijhaar wo mujhse sar-e-bazaar karega!

कब तक वो मेरा होने से इंकार करेगा,
खुद टूट कर वो एक दिन मुझसे प्यार करेगा,
इश्क़ की आग में उसको इतना जला देंगे,
कि इज़हार वो मुझसे सर-ए-बाजार करेगा। <3

Love Shayari, Unka haal bhi kuch

Unka haal bhi kuch aap jesa hi hoga,
aapka haale dil unhai bhi mehsus hoga,
bekarari ki aag me jo jal rahe hai aap,
aap se jyada unhai is jalan ka ehsaas hoga!

उनका हाल भी कुछ आप जैसा ही होगा,
आपका हाले दिल उन्हें भी महसूस होगा,
बेकरारी की आग में जो जल रहे हैं आप,
आपसे ज्यादा उन्हें इस जलन का एहसास होगा।

Funny Shayari, Manzil unhi ko milti hai

Manzil unhi ko milti hai,
jinke hoslo me jaan hoti hai,
aur band bhatti me bhi daaru unhi ko milti hai..
jinki bhatti me pehchaan hoi hai.

मंजिल उन्हीं को मिलती है,
जिनके हौसलों में जान होती है…
और और बंद भट्ठी में भी दारू उन्हीं को मिलती है,
जिनकी भट्ठी में पहचान होती है!

2 Line Shayari, Samundar na sahi

समंदर न सही पर एक नदी तो होनी चाहिए,
तेरे शहर में ज़िंदगी कहीं तो होनी चाहिए। 🌱


माना कि बहुत कीमती है वक़्त तेरा,
मगर.. हम भी नवाब हैं बार-बार नहीं मिलेंगे।


खेलना अच्छा नहीं किसी के नाज़ुक दिल से..
दर्द जान जाओगे.. जब कोई खेलेगा तुम्हारे दिल से।


ख़ुदा बदल न सका आदमी को आज भी यारो,
और अब तक आदमी ने सैकड़ों ख़ुदा बदले।


तुम अच्छे हो तो बेहतर, तुम बुरे हो- तो भी कबूल,
हम मिज़ाज-ऐ-दोस्ती में ऐब-ऐ-दोस्त नहीं देखा करते।


मैं ख्वाहिश बन जाऊँ, और तू रूह की तलब,
बस यूँ ही जी लेंगे दोनों मोहब्बत बनकर।


शतरंज मे वज़ीर और ज़िंदगी मे ज़मीर,
अगर मर जाए तो समझिए खेल ख़त्म।


अब इस से ज्यादा क्या नरमी बरतू
दिल के ज़ख्मो को छुया है तेरे गालों की तरह। 🌹


हुस्न भी तेरा, अदाएं भी तेरी, नखरे भी तेरे,
शोखियाँ भी तेरी, कम से कम इश्क़ तो मेरा रहने दे।


लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है।

Hindi Shayari, Ek din jab umar

Ek din jab umar ne talaashi li,
to jeb se lamhe baraamad hue..
kuchh gam ke the, kuchh nam se the, kuchh toote hue the,
bas kuchh hi sahi salaamat mile.. jo bachapan ke the!!

एक दिन जब उम्र ने तलाशी ली,
तो जेब से लम्हे बरामद हुए..
कुछ ग़म के थे, कुछ नम से थे कुछ टूटे हुए थे,
बस कुछ ही सही सलामत मिले.. जो बचपन के थे!! 😊

2 Line Shayari, Kuch jyada nahi jante

कुछ ज्यादा नही जानते मोहब्बत के बारे में,
बस उन्हें सामने देखकर मेरी तलाश खत्म हो जाती है।


सुनो मेरी जान तुम्हारा हाथ पकड़कर घूमने का,
दिल करता है, चाहे वो ख़्वाबों में हो या हक़ीक़त में।


मैं मतलबी नहीं जो साथ रहने वालो को धोखा दे दू..
बस मुझे समझना हर किसी के बस की बात नहीं।


कोई भी रिश्ता ना होने पर भी जो रिश्ता निभाता हैं,
वो रिश्ता एक दिन दिल की गहराइयों को छू जाता हैं। 🌿


मत रख इतनी नफ़रतें अपने दिल में ए इंसान,
जिस दिल में नफरत होती है उस दिल में रब नहीं बसता। 💔


अपनी खामोशी में मुझे क्यूँ तलाश रहे है हुजूर..
अपने धडकनों से पूछो मेरा एक बसेरा वहां भी है। 🌹


सबक तो तूने बहुत सिखाये ए जिंदगी,
मगर शुक्रिया तेरा किसी का दिल तोड़ना नही सिखाया। 💝


अभी काँच हूँ इसलिए सबको चुभता हूँ,
जिस दिनआइना बन जाऊँगा, उस दिन पूरी दुनियाँ देखेगी।


अगर निगाहे हो मंज़िल पर और कदम हो राहो पर,
ऐसी कोई राह नही जो मंज़िल तक ना जाती हो।


कौन कहता है आग से आग बुझती नहीं,
हुज़ूर, दिल से ज़रा दिल, लगा कर तो देखो।