Hindi Shayari Poem, Mehnat se utha hoon

Mehnat se utha hoon, mehnat ka dard jaanta hoon,
aashma se jyada, zami ki kdra jaanta hoon,

Lacheela ped tha jo jhel gaya aandhiya,
main magroor darakhton ka hashra jaanta hoon,

Chote se bada banana aashan nahi hota,
zindagi mein kitna zaroori hai sabra jaanta hoon,

Mehnat badhi to kishmat bhi badh chali,
chhalon me chipee lakeeron ka asar jaanata hoon,

Bewaqt, be wajah, be hisab mushkura deta hoon,
aadhe dushmano ko to yun hi hara deta hoon,

Kafi kuch paaya par apna kuch nahi maana,
Kyunki ek din raakh main milna hai me ye jaanta hoon!

मेहनत से उठा हूँ, मेहनत का दर्द जानता हूँ,
आसमाँ से ज्यादा जमीं की कद्र जानता हूँ।

लचीला पेड़ था जो झेल गया आँधिया,
मैं मगरूर दरख्तों का हश्र जानता हूँ।

छोटे से बडा बनना आसाँ नहीं होता,
जिन्दगी में कितना जरुरी है सब्र जानता हूँ।

मेहनत बढ़ी तो किस्मत भी बढ़ चली,
छालों में छिपी लकीरों का असर जानता हूँ।

बेवक़्त, बेवजह, बेहिसाब मुस्कुरा देता हूँ,
आधे दुश्मनो को तो यूँ ही हरा देता हूँ!!

काफी कुछ पाया पर अपना कुछ नहीं माना,
क्योंकि एक दिन राख में मिलना है ये जानता हूँ।

2 Line Shayari, Dhadkano ko bhi

धड़कनों को भी रास्ता दे दीजिये हुजूर,
आप तो पूरे दिल पर कब्जा किये बैठे है।


ना मिल रहा है तु, ना खो रहा है तु,
ऐ मेरे यार, बडा दिलचस्प हो रहा है तु।


हम से बड़े और भी दावेदार हैं तुम्हारे,
पर हमारे जैसा जुनून लाएंगे कहां से।


पंख लगा के उड नहीं सकती चिट्ठी मेरी क्योंकि,
एहसास और अल्फाज दोनों ही बहुत भारी है इसमें।


तुम चाहे बंद कर लो दिल के दरवाजे सारे,
हम दिल मे उतर आएंगे, कलम के सहारे।


ज़ख्म ताज़ा हो तो रुक रुक के कसक होती है,
याद गहरी हो तो थम थम के क़रार आता है।


उदास कर गई आज की सुबह भी मुझे..
जैसे भुला रहा हो कोई आहिस्ता-आहिस्ता।


बिगाड़ के रख देती है ज़िन्दगी का चेहरा,
ए-मोहबत.. तू बड़ी तेजाबी चीज़ है।


उम्र भर चलते रहे, मगर कंधो पे आए कब्र तक,
बस कुछ कदम के वास्ते गैरों का अहसान हो गया।


खयालों में ​उसके मैंने बिता दी ज़िंदगी सारी,
​​इबादत कर नहीं पाया खुदा नाराज़ मत होना​।

2 Line Shayari,

मेरी नीम सी जिंदगी को शहद कर दे,
कोई मुझे इतना चाहे की बस हद्द कर दे।


अब कोई दर्द दर्द नहीं लगता,
तेरे दिए हुए दर्द ने तो कमाल कर दिया।


ख्वाहिश थी उस रिश्ते को बचाने की,
और यही वजह थी मेरे हार जाने की।


बस इबादत में कमी है ज़नाब,
वरना ख़ुदा तो हर जग़ह मौजूद है।


सिर्फ दो ही वक़्त पर तेरा साथ चाहिए,
एक तो अभी और एक आने वाले कल मे।


सवाल ये नहीं रफ्तार किसकी कितनी है,
सवाल ये है सलीक़े से कौन चलता है।


तुम्हें तो इल्म है मेरे दिल-ए-वहशी के ज़ख़्मों को,
तुम्हारा वस्ल मरहम है कभी मिलने चले आओ।


जब दिल करता है कुछ करू,
तो तुम्हारे लिए दुआ कर देता हूँ!!


इक खिलौना टूट जाएगा नया मिल जाएगा,
मैं नहीं तो कोई तुझको दूसरा मिल जाएगा।


अपने वो नही होते जो तस्वीर में साथ खड़े होते हैं,
अपने वो हैं जो तकलीफ में साथ खड़े होते हैं।

Good Morning Shayari, Wada kiya hai to

Wada kiya hai to zaroor nibhayenge,
Suraj ki kiran bankar chhat pe ayenge,
Hum hain to judayi ka gum kaisa,
Teri har subah ko phoolon se sajayenge.
Good Morning

वादा किया है तो ज़रूर निभाएंगे,
सूरज की किरण बनकर छत पे आएंगे,
हम हैं तो जुदाई का गम कैसा,
तेरी हर सुबह को फूलों से सजाएंगे.
Good Morning

Good Morning Shayari, Naye din ki nayi suhah

Naye din ki nayi suhah ka naya andaz,
Saare din ki jholi mein kuchh chhupe hue hain raaz,
Tujhko, mujhko har kisi ko milna hai kuchh aaj,
Toh aao yaaron khushi khushi karein iss din ka aghaaz.
Good Morning

Good Morning Shayari, Sone aur Chandi

Sone Aur Chandi Ki Barsaat Niraali Ho,
Ghar Ka Koi Kona Daulat Se Na Khali Ho,
Sehat Bhi Rahe Achhi Chehre Pe Lali Ho,
Haste Rahe Aap Khushhali Hi Khushhali Ho..
Good Morning

सोने और चांदी की बरसात निराली हो,
घर का कोई कोना दौलत से न खाली हो,
सेहत भी रहे अच्छी चेहरे पे लाली हो,
हस्ते रहे आप खुशहाली ही खुशहाली हो..
Good Morning

Good Morning Shayari, Neend Bhari Aankhon Ko

Neend Bhari Aankhon Ko Zara Dheere Dheere Kholo,
Is Pyari Si Subah Ki Nami Se Apni Palko Ko Zara Dho Lo,
Humne To Aapko Bol Diya Hai Good Morning,
Ab Aapki Baari Hain Hume Good Morning To Bolo..

नींद भरी आँखों को जरा धीरे धीरे खोलो,
इस प्यारी सी सुबह की नमी से अपनी पलकों को जरा ढोलो,
हमने तो आपको बोल दिया है गुड मॉर्निंग,
अब आपकी बारी हैं हमें गुड मॉर्निंग तो बोलो.

Sad Shayari, Jab bhi karib aata hu

Jab bhi karib aata hu batane ke liye,
zindgi door rakhti hai satane ke liye,
mehfilo ki shaan na samjhna mujhe,
main to hansta hu gam chupane ke liye.

जब भी करीब आता हूँ बताने के लिये,
जिंदगी दूर रखती हैं सताने के लिये,
महफ़िलों की शान न समझना मुझे,
मैं तो अक्सर हँसता हूँ गम छुपाने के लिये।

2 Line Shayari, Julm Ke Sare Hunar

जुल्म के सारे हुनर हम पर यूँ आजमाये गये,
जुल्म भी सहा हमने.. और जालिम भी कहलाये गये।


ज़ख्म कहां कहां से मिले है, छोड़ इन बातो को,
ज़िन्दगी तु तो ये बता, सफर कितना बाकी है।


यादे अपनी साथ ले जाओ मुझ को क्यो तड़पाती है,
मेरे ख्याल मेरे नस नस मे इस तरह कब्जा जमाती है।


पहले तुम.. अब यादें तुम्हारी,
दुश्मनी क्या है.. मुझसे तुम्हारी। 💖


आज फिर कोई दिल को इस कदर सता रहा है,
आज फिर कोई दूर जाने का इशारा करके पास बुला रहा है।


चाहत थी या, दिल्लगी या, यूँ ही मन भरमाया था,
याद करोगे तुम भी कभी, किससे दिल लगाया था! 💞


क्या बताऊं यार तुझको.. प्यार मेरा कैसा है,
चांद सा नही है वो.. चांद उसके जैसा है। 💝


तलब ये है कि मैं सर रखूँ तेरे सीने पे..
और.. तमन्ना ये कि मेरा नाम पुकारती हों धड़कनें तेरी।


काश कोई इस तरह भी वाकिफ हो मेरी जिंदगी से,
कि में बारिश में भी रोऊँ और वो मेरे आंसू पढ़ ले।


चल चलें किसी ऐसी जगह जहाँ कोई न तेरा हो न मेरा हो,
इश्क़ की रात हो और.. बस मोहब्बत का सवेरा हो..!! 💟

2 Line Shayari, Dohre charitra

दोहरे चरित्र में नहीं जी पाता हूँ,
इसलिए कई बार अकेला नजर आता हूँ।


दरख्तों से ताल्लुक का, हुनर सीख ले इंसान,
जड़ों में ज़ख्म लगते हैं, टहनियाँ सूख जाती हैं।


तुम्हारा दबदबा लोगो यहाँ सिर्फ ज़िन्दगी तक है
किसी की कब्र के अंदर ज़मींदारी नही चलती।


बिछड़ के तुझ से किसी दूसरे पे मरना है,
ये तजरबा भी इसी ज़िंदगी में करना है।


मुझसे बिछड़ के खुश रहते हो,
मेरी तरह तुम भी झूठे हो।


दिल तोड़ना आज तक नही आया मुझे,
प्यार करना माँ से जो सिखा मेने।


कैद में परिंदा आसमान को भूल जाता हैं,
कैद से छूट भी गया तो उड़ान भूल जाता हैं।


शर्मा कर मत छुपा चहरे को पर्दे में,
हम चेहरे के नहीं, तेरी आवाज के दीवाने है।


दिल का दर्द अपना अब सारी हदें आर पार कर रहा है,
दिलबर भी कितना संगदिल है एक जुर्म को ही बार बार कर रहा है।


यहाँ गरीब को मरने की इसलिए भी जल्दी है ग़ालिब,
कहीं जिन्दगी की कशमकश में कफ़न महँगा ना हो जाए।