Hindi Shayari, Shayar to hum hai

Shayar to hum hai shayari bana denge,
aapko shayari me qaid kar lenge,
kabhi sunao hume apni aawaz,
aapki aawaz ko hum ghazal bana denge.

शायर तो हम है शायरी बना देंगे,
आपको शायरी मे क़ैद कर लेंगे,
कभी सूनाओ हमे अपनी आवाज़,
आपकी आवाज़ को हम ग़ज़ल बना देंगे।

Yaad Shayari, Jab khamosh aankho se

Jab khamosh aankho se baat hoti hai.
Aise hi mohabbat ki shurwat hoti hai.
Tumhare hi khyalo mein khoye rehte hai.
Pata nahi kab din kab raat hoti hai ?

जब खामोश आँखो से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं
पता नही कब दिन और कब रात होती है

Sad Shayari, Dukh dekar sawal karte ho

दुःख देकर सवाल करते हो,
तुम भी जानम कमाल करते हो,

देख कर पूछ लिया हाल मेरा,
चलो कुछ तो ख्याल करते हो,

शहर-ए दिल में ये उदासियाँ कैसी,
ये भी मुझसे सवाल करते हो,

मरना चाहें तो मर नहीं सकते,
तुम भी जीना मुहाल करते हो,

अब किस-किस की मिसाल दूँ तुम को,
हर सितम बे-मिसाल करते हो। -मिरजा गालि़ब साहब

Yaad Shayari, Kisne kaha aapki yaad

Kisne kaha aapki yaad nahi aati,
Bina yaad kiye koi raat nahi jati,
Waqt badal jata hai, aadte nahi jati,
Aap khaas ho.. ye baat har bar to kahi nahi jati.

किसने कहा आपकी याद नही आती,
बिना याद किये कोई रात नही जाती,
वक्त बदल जाता है, आदत नही जाती,
आप खास हो, ये बात हर बार तो कही नही जाती।

Sad Shayari, Meri barbadi par tu

Meri barbadi par tu koi malal na karna,
bhul jana mera khyal na karna,
hum teri khusi k liye kafan odh lenge,
pr tu meri laash se koi sawal na karna.

मेरी बर्बादी पर तू कोई मलाल ना करना,
भूल जाना मेरा ख्याल ना करना,
हम तेरी ख़ुशी के लिए कफ़न ओढ़ लेंगे,
पर तुम मेरी लाश ले कोई सवाल मत करना!

Sad Shayari, Raaste khud hi

Raaste khud hi tabahi ke nikale humne,
Kar diya dil kisi patthar ke hawale humne,
Hum ko maloom kya shaey hai mohabbat logoon,
Khud apna ghar phoonk ke dekhe hain ujale humne.

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हम ने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हाँ मालूम है क्या चीज़ हैं मोहब्बत यारो,
अपना ही घर जला कर देखें हैं उजाले हमने।

Good Morning Shayari, Chalate rahe kadam

Chalate rahe kadam.. kinara jarur milega,
Andhakaar se ladate rahe savera jarur khilega,
Jab than liya manjil par jaana raasta jarur milega,
E-Raahi na thak chal.. ek din samay jarur phirega.
good morning

चलते रहे कदम.. किनारा जरुर मिलेगा,
अन्धकार से लड़ते रहे सवेरा जरुर खिलेगा,
जब ठान लिया मंजिल पर जाना रास्ता जरुर मिलेगा,
ए राही न थक चल.. एक दिन समय जरुर फिरेगा।
Good morning

HIndi Poem, Tere libas se mohabbat

Tere libas se mohabbat ki hai,
tere ehsas se mohabbat ki hai,
tu mere paas nahi fir bhi,
maine teri yaad se mohabbat ki hai,
kabhi tune bhi mujhe yaad kiya hoga,
maine un lamho se mohabbat ki hai,
jinme ho sirf teri aur meri baatein,
maine un alfaaz se mohabbat ki hai,
jo mahkate ho teri mohabbat se,
maine un jazbat se mohabbat ki hai,
aaoge kab wapis meri jaan,
maine tere intezaar se mohabbat ki hai!

तेरे लिबास से मोहब्बत की है,
तेरे एहसास से मोहब्बत की है,
तू मेरे पास नहीं फिर भी,
मैंने तेरी याद से मोहब्बत की है,
कभी तू ने भी मुझे याद किया होगाी,
मैंने उन लम्हों से मोहब्बत की है,
जिन में हो सिर्फ तेरी और मेरी बातें,
मैंने उन अल्फाज से मोहब्बत की है,
जो महकते हो तेरी मोहब्बत से,
मैंने उन जज्बात से मोहब्बत की है,
तुझ से मिलना तो अब एक ख्वाब लगता है,
इसलिए मैंने तेरे इंतजार से मोहब्बत की है.

Hindi Poem, Tamanna chodh dete

तमन्ना छोड़ देते हैं, इरादा छोड़ देते हैं,
चलो एक दूसरे को फिर से आधा छोड़ देते हैं,
उधर आँखों में मंज़र आज भी वैसे का वैसा है,
इधर हम भी निगाहों को तरसता छोड़ देते हैं,
हमीं ने अपनी आँखों से समन्दर तक निचोड़े हैं,
हमीं अब आजकल दरिया को प्यासा छोड़ देते हैं,
हमारा क़त्ल होता है, मुहब्बत की कहानी में,
या यूँ कह लो के हम क़ातिल को ज़िंदा छोड़ देते हैं,
हमीं शायर हैं, हम ही तो ग़ज़ल के शाहजादे हैं,
तआरुफ़ इतना देकर बाक़ी मिसरा छोड़ देते हैं।

2 Line Shayari, Wo jo samjhe the

Wo jo samjhe the tamasha hoga,
maine chup reh ke baazi palat di.


Tu kaha hain, mere paas aa,
main kaha hoon, mujhe pataa chale.


Chaaro taraf lakadhaare hain,
fir bhi ped kahan haare hain.


Are o jalaane waale.. wo tera hi tha nasheman,
jise tune phoonk daala mera aashiyaan samajh kar.


Kal raat zindagi se mulaqaat ho gayi,
lab thartharaa rahe the magar baat ho gayi.


Tujhe kitna kaha tha ki mujhe apna na banaa,
ab mujhe chhod ke duniya me tamasha na banaa.


Ab dekhiye to kis ki jaan jaati hai,
maine uski.. usne meri kasam khaayi hai.


Gulaab, khwaab, dawaa, zaher, jaam kya kya hai,
main aa gaya hoon, bataa intezaam kya kya hai.


Mere mehboob ne waada kiya hai paan’chve din ka,
kisi se sun liya hoga ke, ye duniya chaar din ki hai.


Ek main tha, jo lafz dhoondh dhoondh kar thak gaya,
koi gair kharide huye phool de kar izhaar kar gaya.