Love Shayari, Pyar ke Kachhe Dhaage

प्यार के कच्चे धागे की इस डोर से,
इक दूजे को चल बाँध लें जोर से,
अपने अरमानों की आज बारात है,
खुबसूरत बड़ी ये मुलाकात है.

Love Shayari, Pyar ke Kachhe Dhaage