Hot Shayari, Na gulfaam chahiye

Na gulfaam chahiye, Na salaam chahiye,
Na mubarak ka koi paigam chahiye,
Jisko pee ker hosh urr jayain,
Labon ko aisa.. jaam chahiye!!

न गुलफ़ाम चाहिए, न सलाम चाहिए,
न मुबारक का कोई पैग़ाम चाहिए,
जिसको पी कर होश उड़ जायें,
लबों को ऐसा.. जाम चाहिए!