True Shayari, Jaruri nahi ki

ज़रूरी नहीं कि हर समय लबों,
पर भगवान का नाम आये,
वो लम्हा भी भक्ति से कम नहीं जब,
इंसान इंसान के काम आये।