Love Shayari, Surkh ankhon se

सुर्ख आँखो से जब वो देखते है,
हम घबराकर आँखे झुका लेते है,
क्यू मिलाए उन आँखो से आखे,
सुना है वो आखो से अपना बना लेते है।

Surkh ankhon se wo jab hume dekhte hai,
Hum ghabra kar ankhein jhuka lete hai,
Kon milaye un ankhon se ankhein..
Suna ha wo ankhon se hi apna bana lete hai.

Love Shayari, Surkh ankhon se