Hindi Shayari, Ladkhadaya hai jitna wo

लडखडाया है जीतना वो संभल जायेगा,
वक्त आनें पे वो भी जाहिर बदल जायेगा,
आज कहते हो ये क्या-क्या लिखते हो तुम,
देखना जमाना मेरे गीत जब कल गायेगा। 🍃 🍂

Hindi Shayari, Ladkhadaya hai jitna wo