Hindi Shayari, Kashti Hai Purani

Kashti Hai Purani Magar Dariya Badal Gaya,
Meri Talash ka Bhi To Jariya Badal gaya,
Na Shaql Hi Badli Na Badla Mera Kirdar,
Bas Logo Ke Dekhne Ka Najarya Badal gaya.

कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया,
ना शक्ल बदली ना अक्ल बदली,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया।

Hindi Shayari, Kashti Hai Purani