Dard Shayari, Kuch log kehte hai

कुछ लोग कहते है की बदल गया हूँ मैं,
उनको ये नहीं पता की संभल गया हूँ मैं,
उदासी आज भी मेरे चेहरे से झलकती है,
पर.. अब दर्द में भी मुस्कुराना सीख गया हूँ मैं।

Dard Shayari, Kuch log kehte hai