Dard Shayari, Jeene ki khawaish

जीने की ख्वाहिश में हर रोज़ मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं,
झूठा ही सही मेरे यार का वादा है,
हम सच मान कर ऐतबार करते हैं ।

Jeene Ki Khwaish Me Har Roz Marte Hai,
Wo Aaye Na Aaye Hum Intezaar Karte Hai,
Jutha Hi Sahi Mere Yaar Ka Vaada Hai,
Hum Sach Maankar Aitbar Karte Hai.