Dard Shayari, Dard Kitna Hai

Dard Kitna Hai Bata Nahi Sakte,
Zakhm Kitne Hain Dikha Nahi Sakte,
Ankhon Se Samjh Sako To Samjh Lo,
Ansoo Gire Hain Kitne Gina Nahi Sakte.

दर्द कितना है बता नहीं सकते,
ज़ख़्म कितने हैं दिखा नहीं सकते,
आँखों से खूद समझ लो..
आँसू गिरे हैं कितने गिना नहीं सकते।

Dard Shayari, Dard Kitna Hai