Bewafa Shayari, Zindagi Se Bas Yahi Ek Gila Hai

Zindagi Se Bas Yahi Ek Gila Hai,
Khushi Ke Baad N Jane Kyon Gam Mila Hai,
Hamne To Ki Thi Wafa Unse Ji Bhar Ke,
Par Nahin Jaante The Ki Wafa Ke Badle Bewafaai Hi Sila Hai! 💔

ज़िंदगी से बस यही एक गिला है,
ख़ुशी के बाद न जाने क्यों गम मिला है,
हमने तो की थी वफ़ा उनसे जी भर के..
पर नहीं जानते थे कि वफ़ा के बदले बेवफाई ही सिला है। 💔

Bewafa Shayari, Zindagi Se Bas Yahi Ek Gila Hai