2 Line Shayari, Rone ki wajah na thi

रोने की वजह न थी हसने का बहाना न था
क्यो हो गए हम इतने बडे इससे अच्छा तो वो बचपन का जमाना था!


किसी ने कहा था महोब्बत फूल जैसी है!!
कदम रुक गये आज जब फूलों को बाजार में बिकते देखा!


जो दिल को अच्छा लगता है उसी को दोस्त कहता हूँ,
मुनाफ़ा देखकर रिश्तों की सियासत नहीं करता ।।।


ना कर तू इतनी कोशिशे, मेरे दर्द को समझने की….
तू पहले इश्क़ कर, फिर चोट खा, फिर लिख दवा मेरे दर्द की….


जिस घाव से खून नहीं निकलता,
समझ लेना वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है.


तुम रख न सकोगे, मेरा तोहफा संभालकर,
वरना मैं अभी दे दूँ, जिस्म से रूह निकालकर…!


अपने वजूद पर इतना न इतरा … ए ज़िन्दगी.
वो तो मौत है जो तुझे मोहलत देती जा रही है ।


वही हुआ न तेरा दिल, भर गया मुझसे…
कहा था न ये मोहब्बत नहीं हैं, जो तुम करती हो…!!


क्या कशिश थी उस की आँखों में.. मत पूछो.
मुझ से मेरा दिल लड़ पड़ा मुझे यही चाहिये…??


प्यार मोहब्बत चाहत इश्क़ जिन्दगी उल्फ़त ,
एक तेरे आने से कितना बदल गई किस्मत।

#Priya

Dosti ki wajah nahin hoti

Dosti ki wajah nahi hoti,
Dosti saza nahi hoti,
Dosti me hoti he imaandari,
Dosti me duniadari nahi hoti,
Dost jaan se pyara hota he,
Dost se jaan pyari nahi hoti.

2 Line Shayari #215, Kaise karu door ye udaasi bata de koi

Kaise kru door ye udaasi bata de koi,
laga kr sine se kash rula de koi.

Shohrat to janaze ke din pata chalegi,
Daulat to koi bhi kama leta hai.

Na tha koi hamara na ham kisi ke hain,
Bus ek Khuda hai aur hum usi ke hain.

Aaj Koi ‪Shayari‬ Nahi Bas Itna Sun Lo,
Main ‪‎Tanha‬ hun Aur ‪Wajah‬ Tum Ho.

Kehte Hai Gam Baatne Se Hota Hai Kam,
Aisa Hi Kabhi Pele Maante The Hum.

Duniya teri taraf hai.. Khuda mere saath hai
Toote hue dilon ki.. Duaa mere saath hai.

Jee Chahe Ki Duniya Ki Har Ek ‪#Fikra‬ Bhula Kar,
Kuchh ‪shayari‬ Sunau Me Tujhe Pass Bitha Kar.

Shikayat Kya Karu.. Dono Taraf Gham Ka Fasana Hai,
Tere Aage Mohobbat Hai.. Mere Aage Zamana Hai.

Tere Pyar Ki Nishani Tera Gam Hi To Hai Mere Paas,
Wo Bhi Bata do To Rahega Kya Mere Paas.

Na Jane Kyon, Magar is Jhoothi Duniya K Jhoote Log,
Wafaen Kar Nahi Sakte Baten Hazaar Karte Hain.

All Category List

2 Line, Attitude, Beauty, Bewafa, Birthday, Dard, Desh Bhakti, Dil, Dosti, Festival, Friendship, Funny, Good Morning, Good Night, Heart Touching, Hindi Poems, Hindi Shayari, Hot, Life, Love, Miss You, Motivational, Punjabi, Rain-Barish, Romantic, Sad, Sharabi, Sorry, True, Valentines Day, Yaad,


Adaa, Aadat, Aagosh, Aaina, Aankhen, Aankhon, Aansu, Aarzoo, Aashiq, Aatma, Awaz, Akele, Alfaaz, Andaz, Apna, Apne, Armaan, Bachpan, Badal, Barbad, Barbadi, Bebas/Bebasi, Bekarar, Bekasoor, Bepanah, Bhagwan, Bharosa, Bhook, Bhula, Bichhad, Burai, Chahat, Chand, Chandni, Chehra, Darr, Dastaan, Dawa, Deedar, Deewana, Dhadkan, Dhoka, Dilkash, Dillagi, Doori, Dua, Dukh, Dukhi, Duniya, Dushman, Ehsaas, Gali, Gam, Garmi, Ghadi, Ghar, Ghazal, Gulab, Gussa, Haalaat, Halat, Hamdard, Hasin, Hasina, Hichkiya, Himmat, Hosh, Humsafar, Husan, Ilzaam, Imtihaan, Insaan, Insaniyat, Inteha, Intzar, Ishq, Ishwar, Izhaar, Jaadu, Jaan, Jaanu, Jannat, Jism, Juda, Judai, Julf, Jurm, Jazbaat, Kaante, Kaash, Kadam, Kafan, Kagaz, Kahani, Kajal, Kalam, Karz, Kasam, Kashish, Katil, Khaas, Khafa, Khamosh, Khayalo, Khubsurat, Khuda, Khush, Khusbu, Khushi, Kimat, Kismat, Lab, Lamha, Lamhe, Maa, Maaf, Madhosh, Majboor, Manzil, Masoom, Mausam, Maut, Mehfil, Mehfooz, Mohabbat, Mulakat, Musafir, Muskurahat, Naam, Nadaan, Nafrat, Naseeb, Neend, Nigahe, Nazar, Nazare, Pagal, Pal, Palko, Patthar, Phool, Pooja, Prem, Pyar, Pyas, Pyasa, Raah, Raaste, Raat, Raaz, Rab, Raste, Rishta, Rishte, Roop, Rutha, Sabar, Safar, Samay, Sanam, Sans, Sapna, Saja, Shabd, Shak, Shikayat, Siddat, Sikayat, Sikwa, Silsila, Sitam, Sitare, Subah, Sukoon, Suraj, Taare, Tadap, Takdir, Talash, Tamanna, Tanha, Tanhai, Taqdir, Tarif, Tasveer, Thand, Thukraya, Umar, Umeed, Vishwas, Vaada, Wafa, Wajah, Wajood, Waqt, Yaar, Yaari, Zakhm, Zid, Zikr, Zinda, Zindagi, Zor, Zulf, Zulm
Category:

Motivational Shayari, Chu le aasman zameen ki talash na kar

Chu le aasman zameen ki talash na kar,
Jee le zindgi khusi ki taalash na kar,
Taqdeer badal jayegi khud hi mere dost,
Mushkurana seekh le wajah ki taalash na kar.

छु ले आसमान जमीन की तलाश न कर,
जी ले जिंदगी खुशी की तलाश न कर,
तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त,
मुस्कुराना सीख ले वजह की तलाश न कर.

Sorry Shayari, Khata ho gayi

Khata ho gayi toh phir saza suna do,
Dil mein itna dard kyun hai wajah bata do.
Der ho gayi hai yaad karne mein zarur,
Lekin tumko bhula denge yeh khayal mita do.

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।

Hindi Shayari Poem, Mehnat se utha hoon

Mehnat se utha hoon, mehnat ka dard jaanta hoon,
aashma se jyada, zami ki kdra jaanta hoon,

Lacheela ped tha jo jhel gaya aandhiya,
main magroor darakhton ka hashra jaanta hoon,

Chote se bada banana aashan nahi hota,
zindagi mein kitna zaroori hai sabra jaanta hoon,

Mehnat badhi to kishmat bhi badh chali,
chhalon me chipee lakeeron ka asar jaanata hoon,

Bewaqt, be wajah, be hisab mushkura deta hoon,
aadhe dushmano ko to yun hi hara deta hoon,

Kafi kuch paaya par apna kuch nahi maana,
Kyunki ek din raakh main milna hai me ye jaanta hoon!

मेहनत से उठा हूँ, मेहनत का दर्द जानता हूँ,
आसमाँ से ज्यादा जमीं की कद्र जानता हूँ।

लचीला पेड़ था जो झेल गया आँधिया,
मैं मगरूर दरख्तों का हश्र जानता हूँ।

छोटे से बडा बनना आसाँ नहीं होता,
जिन्दगी में कितना जरुरी है सब्र जानता हूँ।

मेहनत बढ़ी तो किस्मत भी बढ़ चली,
छालों में छिपी लकीरों का असर जानता हूँ।

बेवक़्त, बेवजह, बेहिसाब मुस्कुरा देता हूँ,
आधे दुश्मनो को तो यूँ ही हरा देता हूँ!!

काफी कुछ पाया पर अपना कुछ नहीं माना,
क्योंकि एक दिन राख में मिलना है ये जानता हूँ।

Sad Shayari, Sukun apne dilka

सुकून अपने दिलका मैंने खो दिया,
खुद को तन्हाई के समंदर मे डुबो दिया,
जो थी मेरे कभी मुस्कराने की वजह,
आज उसकी कमी ने मेरी पलकों को भिगो दिया.

Sukun apne dilka maine kho diya,
Khud ko tanhai ke samandar mai dubo diya,
Jo thi mere kabhi muskrane ki wajah,
Aaj uski kami ne meri palko ko bhigo diya.

Love Shayari, Khata Ho Gayi

खता हो गयी तो सजा बता दो,
दिल में इतना दर्द क्यों है वजह बता दो,
देर हो गयी है याद करने में ज़रूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल दिल से मिटा दो।

Khata Ho Gayi To Saja Bata Do,
Dil Me Itna Dard Kyu Hai Wajah Bata Do,
Der Ho Gayi Hai Yaad Karne Me Jarur,
Lekin Tumko Bhula Denge Ye Khayal Dil Se Mita Do!

2 Line Shayari, Teri Gali me aakar

तेरी गली में आकर के खो गये हैं दोंनो,
मैं दिल को ढ़ूँढ़ता हुँ दिल तुमको ढ़ूँढ़ता है।

Humari ‪shayari‬ padh kar bas itna sa bole wo,
‪kalam‬ cheen lo inse.. ye ‪lafz‬ ‪dil‬ cheer dete hai.

तुम आए थे, पता लगा, सुन कर अच्छा भी लगा,
पर गैरों से पता चला, बेहद बुरा लगा।

Aaj Koi ‪#‎Shayari‬ Nhi Bas Itna Sun Lo,
Main ‪‎Tanha‬ hun Aur ‪Wajah‬ Tum Ho.

Jee Chahe Ki Duniya Ki Har Ek ‪#‎Fikra‬ Bhula Kar,
Kuchh ‪shayari‬ Sunau Me Tujhe Pass Bitha Kar।

Ab woh armaan hain, na woh sapnay..
Sab qabootar urra gaya koi.

औक़ात नही थी जमाने में जो मेरी कीमत लगा सके,
कबख़्त इश्क में क्या गिरे, मुफ़्त में नीलाम हो गए।

अकसर भुल जाती हूँ मैं तुम्हें शाम की चाय में चीनी की तरह,
फिर जिंदगी का फीकापन तुम्हारी कमी का एहसास दिला देता है।

मुझसे नफरत ही करनी है तो इरादे मजबूत रखना,
जरा से भी चुके तो महोब्बत हो जायेगी।

तेरी जरूरत, तेरा इंतजार और ये तन्हा आलम,
थक कर मुस्कुरा देती हूँ, मैं जब रो नहीं पाती।

सीने में धङकता जो हिस्सा है,
उसी का तो ये सारा किस्सा है।

2 Line Shayari, Nazron se Door

नज़रों से दूर सही दिल के बहुत पास है तू..
बिखरी हुई इस ज़िन्दगी में मेरे जीने की आस है तू..


वो मेरी हर दुआ में शामिल था
जो किसी और को बिन मांगे मिल गया


तुम थोड़ी सी ‪#‎फुलझड़ी‬ क्या हुई..
पूरा मौहल्ला ही ‪#‎माचिस‬ हो गया..


काश तुझे सर्दी के मौसम मे लगे मुहब्बत की ठंड,
और तू तड़प कर माँगे मुझे कम्बल की तरह..!


कहाँ ढूँढ़ते हो तुम इश्क़ को ऐ-बेखबर
ये खुद ही ढून्ढ लेता है जिसे बर्बाद करना हो ..


मैने कहा बडी तीखी‬ मिर्च होयार तुम..!!
वो.. मेरे होठचुम करबोलीऔर अब!!


Aaj Koi ‪‎Shayari‬ Nahi Bas Itna ‪Sun‬ Lo
Mei ‪Tanha‬ Hu aur ‪‎Wajah‬ Tum Ho…!!


Rehte Hain Aas-Paas Hi Lekin Saath Nahi Hote..
Kuch Log Jalte Hain Mujhse Bus Qaakh Nahi Hote!!


बचपन में तो शामें भी हुआ करती थी,
अब तो बस सुबह के बाद रात हो जाती है!


Udne de inn parindon ko ae dost,
jo tere honge laut hi aayenge kisi roz!

Dard Shayari, Khud ko kuch ise tarha

खुद को कुछ इस तरह तबाह किया,
इश्क़ किया क्या ख़ूबसूरत गुनाह किया,
जब मुहब्बत में न थे तब खुश थे हम,
दिल का सौदा किया बेवजह किया।

Khudh ko kuch is tarah tabah kiya,
Ishq kiya kya khubsurat gunaah kiya,
Jab mohobbat me na the tab kush the ham,
Dil ka soda kiya bewajah kiya.