Search Results for: Shayari

2 Line Shayari Collection #185

दूरियाँ जब बढ़ी तो गलतफहमियां भी बढ़ गयी।
फिर तुमने वो भी सुना जो मैंने कहा ही नही।


जिद कर ही बैठे हो जाने की, तो ये भी सुन लो,
खैरियत मेरी.. कभी गैरों से मत पूछना..!!


दोष कांटो का कहाँ हमारा है जनाब,
पैर हमने रखा वो तो अपनी जगह पे थे।


सिर्फ बेचैनीयाँ लिखी जाती हैं दिल की,
लफ्जों से पूरी कहा होती है कमी सनम तेरी।


बहक न जाए आज लौ की नीयत कही..
यारो उससे कहना होंठों से यू वो दीप बुझाया न करे। 💚


हमें ये दिल हारने की बीमारी ना होती,
अगर आपकी दिल जीतने की अदा इतनी प्यारी ना होती। 💞


नक़ाब उलटे हुए जब भी चमन से वह गुज़रता है,
समझ कर फूल उसके लब पे तितली बैठ जाती है।


दिल ने कहा भी था मत चाह उसे यू पागलो की तरह,
कि वो मगरूर हो जायेगा तेरी बेपनाह मुहब्बत देखकर।


भीगी नहीं थी मेरी आँखें कभी वक़्त के मार से,
देख तेरी थोड़ी सी बेरुखी ने इन्हें जी भर के रुला दिया।


ये ना पूछना ज़िन्दगी ख़ुशी कब देती है,
क्योकि शिकायते तो उन्हें भी है जिन्हें ज़िन्दगी सब देती है।

Sad Shayari, Dil main har raaz daba kar rakhte hai

Dil main har raaz daba kar rakhte hai,
Hotho par muskarahat sajakar rakhate hai,
Ye duniya sirf khushi main saath deti hai,
Isaliye hum apne aansuo ko chhupa kar rakhte hai.

दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है.

Yaad Shayari, Haqiqat kaho to unko khwab lagta hai

Haqiqat kaho to unko khwab lagta hai,
Shikayat karo to unko mazak lagta hai,
Kitni shiddat se unhe yaad karte hai hum,
Aur ek wo hain jinhe yeh sab ittefaq lagta hai. 🌹

हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है
शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है
कितने सिद्दत से उन्हें याद करते है हम
और एक वो है, जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है. 🌹

Yaad Shayari, Aaanu se

आंसू से पलके भींगा लेता था,
याद तेरी आती थी तो रो लेता था,
सोचा था की भुला दूँ तुझको मगर,
हर बार ये फैसला बदल लेता था. 💘

Sad Shayari, Maut Ke Baad

Maut Ke Baad Yaad Aa Raha Hai Koi,
Mitti Meri Kabr Se Utha Raha Hai Koi,
Ya Khuda Do Pal Ki Mohlat Aur De De,
Udas Meri Kabr Se Ja Raha Hai Koi. 💔

मौत के बाद याद आ रहा है कोई,
मिट्ठी मेरी कबर से उठा रहा है कोई,
या खुदा दो पल की मोहल्लत और दे दे,
उदास मेरी कबर से जा रहा है कोई. 💔

Love Shayari, Khoya itna kuch

Khoya itna kuch ki hume paana na aaya,
Pyar kar to liya par jatana na aaya.
Aa gaye tum is dil mein pehli hi nazar mei,
Bas hame aaoke dil mein samana na aaya. 💘

खोया इतना कुछ कि फिर पाना न आया,
प्यार कर तो लिया पर जताना न आया,
आ गए तुम इस दिल में पहली ही नज़र में,
बस हमें आपके दिल में समाना ना आया। 💘

Romantic Shayari, Jis Din Sapno Me

Jis Din Sapno Me Unka Didaar Ho Jata Hai,
Us Raat Sona Bhi Duswaar Ho Jata Hai,
Marta Hai Koi Hum Par Bhi,
Ye Soch Kar Apne Aap Se Pyaar Ho Jata Hai. 💖

जिस दिन सपनो में उनका दीदार हो जाता है,
उस रात सोना दुस्वार हो जाता है,
मरता हे कोई हम पर भी,
ये सोच कर अपने आप से प्यार हो जाता है 💖

Love Shayari, Chup na hogi hawa

Chup na hogi hawa bhi kuch kahegi ghata bhi,
Aur mumkin hai tera jikr kar de khuda bhi,
Phir to patthar hi shaayad jabt se kaam lenge,
Husn ki baat chali to sab tera naam lenge. 💕

चुप ना होगी हवा भी, कुछ कहेगी घटा भी,
और मुमकिन है तेरा, जिक्र कर दे खुद़ा भी,
फिर तो पत्थर ही शायद ज़ब्त से काम लेंगे,
हुस्न की बात चली तो, सब तेरा नाम लेंगे। 💕

Hindi Shayari, Ladkhadaya hai jitna wo

लडखडाया है जीतना वो संभल जायेगा,
वक्त आनें पे वो भी जाहिर बदल जायेगा,
आज कहते हो ये क्या-क्या लिखते हो तुम,
देखना जमाना मेरे गीत जब कल गायेगा। 🍃 🍂

2 Line Shayari Collection #184

तु मुझसे मेरे गुनाहों का हिसाब ना मांग मेरे खुदा
मेरी तकदीर लिखने में, कलम तो तेरी ही चली थी।


यूँ ही नहीं होती हाँथ की लकीरों के आगे उँगलियाँ,
रब ने भी किस्मत से पहले मेहनत लिखी है।


आँखों की झील से दो कतरे क्या निकल पड़े..
मेरे सारे दुश्मन एकदम खुशी से उछल पडे।


वादा था मुकर गया.. नशा था उतर गया
दिल था भर गया.. इंसान था बदल गया।


नसीब ने पूछा..बोल क्या चाहिए
ख़ुशी क्या मांग ली खामोश हो गया।🌹


आप हमें चाहें न चाहें इसका गिला नहीं,
हम जिसे चाहें उस पर जान लुटा देते हैं।


सारी उम्र तो कोई जीने की वजह नहीं पूछता,
लेकिन मौत वाले दिन सब पूछते है कि कैसे मरे।


क्या खता हमसे हुई की खत का आना बंद है
आप हैं हमसे खफा या.. डाक-खाना बंद है।


भीगी नहीं थी मेरी आँखें कभी वक़्त के मार से..
देख तेरी थोड़ी सी बेरुखी ने इन्हें जी भर के रुला दिया।


दुआ करो, मैं कोई रास्ता निकाल सकूँ
तुम्हें भी देख सकूँ, खुद को भी सम्भाल सकूँ।