Hindi Poetry, Wo Shakhsh Kabi

वो शख़्स कभी जिस ने मेरा घर नहीं देखा,
उस शख़्स को मैं ने कभी घर पर नहीं देखा,

क्या देखोगे हाल-ए-दिल-बर्बाद के तुम ने,
कर्फ़्यू में मेरे शहर का मंज़र नहीं देखा,

जाँ देने को पहुँचे थे सभी तेरी गली में,
भागे तो किसी ने भी पलट कर नहीं देखा,

दाढ़ी तेरे चेहरे पे नहीं है तो अजब क्या,
यारों ने तेरे पेट के अंदर नहीं देखा,

तफ़रीह ये होती है के हम सैर की ख़ातिर,
साहिल पे गए और समंदर नहीं देखा,

फ़ुट-पाथ पे भी अब नज़र आते हैं कमिश्नर,
क्या तुम ने कोई ओथ कमिश्नर नहीं देखा,

अफ़सोस के इक शख़्स को दिल देने से पहले,
मटके की तरह ठोंक बजा कर नहीं देखा।

दिलावर ‘फ़िगार’ बदायूंनी

Yaad Shayari, Jaane us shakhs ko

Jaane us shakhs ko kaisa ye hunar aata hai,
Raat hoti hai to ankhoo main utar aata hai,
main us ke khyaal se niklu to kahan jaau,
wo meri soch ke har raste pe nazar aata hai.

जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है,
रात होती है तो आँखों में उतर आता है,
मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं,
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है।

Love Shaayri, Mohabbat Kisi Aise Shakhs Ki

मोह्ब्बत किसी ऐसे सख्स की तलाश नही करती
जिसके साथ रहा जाये,
मोह्ब्बत तो ऐसे सख्स की तलाश करती हे
जिसके बगेर रहा न जाये!!

Mohabbat Kisi Aise Shakhs Ki Talash Nahi Karti
Jiske Saath Raha Jaaye..
Mohabbat To Aise Shakhs Ki Talash Karti Hai
Jiske Bagair Raha Na Jaaye!

Beshak kuch waqt ka intezaar mila humko

बेशक कुछ वक्त का इंतजार मिला हमको,
पर ऊस बेवफाई से बढ़कर यार मिला हमको,
न रही तमन्ना किसी जन्नत की हमें ए दोस्त,
तेरी दोस्ती से वो प्यार मिला हमको ..

Beshak kuch waqt ka intezaar mila humko,
Par khuda se badhkar yaar mila humko,
Na rahi tammana kisi jannat ki,
Ae dost teri dosti se vo pyar mila humko.

Sad Shayari, Kasti Hai Purani Magar Dariya Badal Gaya

Kasti Hai Purani Magar Dariya Badal Gaya,
Meri Talash Ka Bhi To Jariya Badal Gaya,
Na Shakl He Badli Na He Badla Mera Kirdaar,
Bas Logo Ke Dekhne Ka Nazariya Badal Gaya!! 😔

कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया,
न शकल बदली न ही बदला मेरा किरदार,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया! 😔

Sad Shayari, Intezar uska jiske aane ki aas ho

Intezar uska jiske aane ki aas ho,
khushbu us phool ki jo mere paas ho,
manzil na mil saki to koi baat nahin,
gham bhi usi shakhs ka hai jise pyar ka ehsaas ho.

इंतजार उसका जिसके आने की कोई आस हो,
खुश्बू भी उस फूल की जो मेरे पास हो,
मंज़िल ना मिल सकी हमे तो कोई बात नही,
गम भी उसी शख्स का होता है जिसे प्यार का एहसास हो।

Sorry Shayari, Bahut udas hai

Bahut udas hai koi shakhs tere jane se,
ho sake to lout ke aaja kisi bahane se,
tu lakh khafaa ho par ek bar to dekh le,
koyi bikhar gaya hai tere rooth jane se.

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से,
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले,
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से।

Love Shayari, Kisi na kisi pe

Kisi na kisi pe kisi ko aetbar ho jata hai,
ajnabi koi shaks yaar ho jata hai,
khubiyon se nahi hoti mohabbat bhi sadaa,
khamiyon se bhi aksar pyaar ho jata hai.

किसी न किसी पे किसी को ऐतबार हो जाता है,
अजनबी कोई शख्स यार हो जाता है,
खूबियों से नहीं होती मोहब्बत सदा,
खामियों से भी अक्सर प्यार हो जाता है।