Search Results for: Ishq

Love Shayari, Husn ki ishq se

Husn ki ishq se jab jab baat hoti hai,
Mehfil mein unki baat se har baat hoti hai,
Wah kehte rahe koi baat nahin ham dono mein,
Par unki kahani se nai shuruat hoti hai.

हुस्न की इश्क से जब जब बात होती है,
महफिल में उनकी बात से हर बात होती है,
वह कहते रहे कोई बात नहीं हम दोनों में,
पर उनकी कहानी से नई शुरूआत होती है।

2 Line Shayari, Ishq to bepanah hua

इश्क तो बेपनाह हुआ कसम से,
गलती बस ये हुई कि हुआ तुमसे।


तेरी याद ही तो एक ऐसी चीज है,
जो ना चाहते हुए भी आ ही जाती है।


दुआ करना दम भी इस तरह निकले,
जिस तरह तेरे दिल से हम निकले।


तुम भूल गए मुझे चलो अच्छा ही हुआ,
किसी एक की रातें तो सुकुन से गुजरे।


मुझे हीर रांझणा की कहानी मत सुना ..
ए-इश्क़, सीधे सीधे बोल मेरी जान चाहिए तुझे।


अच्छा हुआ तुम्हारी आँखों में ये आंसू ख़ुशी के है,
मुझे तो लगा तुम मुझसे बिछड़ के रोये हो।


वो रोई तो जरूर होगी खाली कागज़ देखकर,
ज़िन्दगी कैसी बीत रही है पूछा था उसने ख़त।


नहीं कोई जानकारी मेरे पास मौसम की,
बस इतना जानता हुँ, तेरी यादें तूफ़ान लाती है।


तय है बदलना, हर चीज़ बदलती है इस जहाँ में,
साहेब.. किसी का दिल बदल गया, किसी के दिन बदल गये।


तन्हाई की चादर औढकर रातों को नींद नहीं आती हमें..
साहब.. गुज़र जाती है हर रात किसीकी बातों को याद करते करते।

2 Line Shayari, Ishq ka hona bhi

इश्क का होना भी लाजमी है शायरी के लिये..
कलम लिखती तो दफ्तर का बाबू भी ग़ालिब होता।


एक ताबीज़.. तेरी-मेरी दोस्ती को भी चाहिए..
थोड़ी सी दिखी नहीं कि नज़र लगने लगती हैं।


भरी महफ़िल मे दोस्ती का ‪‎जिक्र‬ हुआ, हमने तो..
सिर्फ़ आप‬ की ओर देखा और लोग ‪‎वाह‬-वाह कहने लगे।


मिट जाते है औरों को मिटाने वाले
लाश कहा रोती है, रोते है जलाने वाले।


वक़्त के भी अजीब किस्से है..
किसी का कटता नही और, किसी के पास होता नही।


आँसू वो खामोश दुआ है
जो सिर्फ़ खुदा ही सुन सकता है।


वो किताबों में दर्ज था ही नहीं,
जो सबक सीखाया जिंदगी ने।


यहाँ सब खामोश है कोई आवाज़ नहीं करता..
सच बोलकर कोई, किसी को नाराज़ नहीं करता।


सुनो, रिश्तों को बस इस तरह बचा लिया करो,
कभी मान लिया करो, कभी मना लिया करो..!!


यूँ तो जिंदगी तेरे सफर से शिकायतें बहुत थी,
दर्द जब दर्ज कराने पहुंचे तो कतारें बहुत थी!!

Sad Shayari, Khuda ne jab ishq banaya

Khuda ne jab ishq banaya hoga,
To khud ajmaya hoga,
Hamari to aukaat hi kya hai,
Is ishq ne khuda ko bhi rulaya hoga.

खुदा ने जब इश्क़ बनाया होगा,
तो खुद आज़माया होगा,
हमारी तो औकात ही क्या है,
इस इश्क़ ने खुदा को भी रुलाया होगा !!

Love Shayari, Ishq ka jisko khwaab

Ishq ka jisko khwaab aa jata hai,
Waqt samjho khraab aa jata hai,
Mehboob aaye ya na aaye,
Par Taare ginne ka hisaab jarur aa jata hai!

इश्क का जिसको ख्वाब आ जाता है,
समझो उसका वक़्त खराब आ जाता है,
महबूब आये या न आये,
पर तारे गिनने का तो हिसाब आ ही जाता है!

Love Shayari, Ishq mohabbat to sab

इश्क मुहब्बत तो सब करते हैं!
गम-ऐ-जुदाई से सब डरते हैं
हम तो न इश्क करते हैं न मुहब्बत!
हम तो बस आपकी एक मुस्कुराहट पाने के लिए तरसते हैं!

Ishq mohabbat to sab karte hai,
gam-a-judai se sab darte hai,
hum to ishq karte ha na to mahabbat,
hum to bas aapki ek mushkurahat pane ke liye taraste hai.

Love Shayari, Ishq sabhi ko

इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है!

Ishq sabhi ko jena sikha deta hai,
wafa ke naam par marna sikha deta hai,
ishq nahi kiya to karke dekho,
zalim har dard sehna sikha deta hai!

Hindi Shayari, Pehle ishq phir dard

पहले इश्क़,
फिर दर्द,
फिर बेहद नफरत,
बड़ी तरकीब से तबाह…..
किया तुमने मुझको!!

Dard Shayari, Duniya mein tere ishq ka

दुनिया में तेरे इश्क़ का चर्चा ना करेंगे,
मर जायेंगे लेकिन तुझे रुस्वा ना करेंगे,
गुस्ताख़ निगाहों से अगर तुमको गिला है,
हम दूर से भी अब तुम्हें देखा ना करेंगे।

Duniya Mein Tere Ishq Ka Charcha Na Karenge,
Mar Jayenge Lekin Tujhe Ruswa Na Karenge,
Qurban Karenge Kabhi Dil, Jaan Kabhi Sadqe,
Tum Apna Bana Logi To Kya Kya Na Karenge,
Gustakh Nigaahon Se Agar Tumko Gila Hai,
Hum Door Se Bhi Ab Tumhe Dekha Na Karenge.

True Shayari, Ishq Mein Koi

Ishq Mein Koi Dil Tod Jaata Hai,
Dosti Mein Koi Bharosa Tod Jaata Hai,
Zindagi Jeena To Koi Gulab Se Sikhe,
Jo Khud Toot Ke Bhi Do Dilon Ko Jod Jaata Hai.